‘हमने केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना से अलग होने का फैसला किया है.’  

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

ममता बनर्जी ने यह बात एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही. इसके साथ ही केंद्र सरकार पर उन्होंने इस योजना का ‘राजनीतिकरण’ करने का आरोप भी लगाया. उनके मुताबिक, ‘आयुष्मान भारत का पूरा श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद को दे रहे हैं जबकि इसका 40 फीसदी खर्च प्रदेश सरकार उठा रही है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘इस योजना को लेकर अपने फैसले से सरकार को अवगत कराने के लिए मैंने केंद्र को एक चिट्ठी भी लिखी है.’

‘नरेंद्र मोदी अपने मंत्रियों की गलतियां छुपाने के लिए सुरक्षा कवच तैयार कर रहे हैं.’  

— आनंद शर्मा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

आनंद शर्मा का यह बयान केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के निदेशक आलोक वर्मा को उनके पद से हटाए जाने को पर आया है. उन्होंने कहा कि केंद्रीय सर्तकता आयोग (सीवीसी) ने वर्मा पर जो आरोप लगाए थे उनमें कोई सत्यता नहीं पाई गई. 77 दिनों के बाद जब सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें उनके पद पर बहाल किया तो 24 घंटे के भीतर सरकार ने उन्हें उनके पद से हटा दिया. आनंद शर्मा के मुताबिक यह फैसला सरकार की घबराहट दिखाता है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ छिपाने की कोशिश कर रहे हैं.


‘हम सेना में समलैंगिक संबंधों और व्यभिचार की अनुमति नहीं देंगे.’  

— जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख

जनरल बिपिन रावत ने यह बात पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही. इसके साथ उन्होंने कहा, ‘सेना में इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता. हम कानून से ऊपर नहीं है. लेकिन सेना में समलैंगिक यौन संबंध और व्यभिचार को मंजूरी देना संभव नहीं होगा.’ उन्होंने आगे कहा, ‘सेना एक परिवार है. हम सेना में ऐसा नहीं होने दे सकते.’


‘राहुल गांधी महिलाओं के खिलाफ नहीं हैं.’  

— प्रकाश राज, अभिनेता

प्रकाश राज का यह बयान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक बयान के बचाव में आया है. उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी ने रफाल सौदे पर प्रधानमंत्री से सवाल पूछ थे. लेकिन प्रधानमंत्री उनके जवाब देने के लिए आगे नहीं आए. ऐसे में राहुल गांधी के बयान को दूसरे पहलू से भी देखा जाना चाहिए.’ प्रकाश राज के मुताबिक, ‘राहुल गांधी महिलाओं के खिलाफ नहीं हैं. यह इसी से पता चलता है कि उन्होंने एक ट्रांसजेंडर को अपनी पार्टी में अहम पद दिया है.’ इससे पहले राहुल गांधी ने रक्षा मंत्री पर निशाना साधते हुए कहा था, ‘निर्मला सीतारमण के भाषण की हमने धज्जियां उड़ा दीं. 56 इंच की छाती वाले प्रधानमंत्री ने एक महिला से कहा था कि मुझे बचाइए.’