मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के बारे में कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी करना एक स्थानीय सरकारी स्कूल के प्रधानाध्यापक यानी हेडमास्टर को भारी पड़ गया. मुख्यमंत्री पर की गई इस टिप्पणी के लिए उसे निलंबित कर दिया गया है. यह घटना जबलपुर की है. यहां एक शासकीय कनिष्ठ बुनियादी प्राथमिक शाला के प्रधानाध्यापक मुकेश तिवारी एक वायरल वीडियो में यह कहते दिखे थे, ‘14 साल बीजेपी का राज रहा तब भी हमें परेशानी होती थी. लेकिन अब तो कांग्रेस भी आ गई अब देखना होगा कि क्या होता है. हमारे समाज में कई दिक्कतें हैं. लेकिन शिवराज सिंह चौहान कैसे भी थे, वो थे तो हमारे. लेकिन कमलनाथ से क्या उम्मीद रखें. वो तो डाकू हैं.’

सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल होने के बाद आक्रोशित कांग्रेस समर्थकों ने जबलपुर जिले की कलेक्टर छवि भारद्वाज से मुलाकात कर मुकेश तिवारी को निलंबित करने की मांग की थी. वीडियो की जांच करने के बाद उनको प्रथम दृष्टया मध्य प्रदेश सिविल सेवा (आचरण) नियमों का उल्लंघन करते हुए पाया गया और निलंबन के आदेश दे दिए गए.

मध्य प्रदेश में बीते महीने हुए विधानसभा चुनावों कांग्रेस पार्टी ने 15 साल से सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराकर राज्य की सत्ता हासिल की है. इसके बाद कांग्रेस नेता कमलनाथ ने प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली.