एशिया कप में भारतीय फुटबॉल टीम और यूएई के खिलाफ गुरुवार को हुए मैच से पहले एक शख्स ने भारत के कुछ प्रशंसकों को पिंजरे में बंद कर दिया. इस घटना का पता एक वीडियो के सार्वजनिक होने के बाद लगा. इस मामले में यूएई के अधिकारियों ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है.

घटना का जो वीडियो सामने आया है, उसमें पक्षियों के पिंजरे में कुछ मजदूर कैद हैं और एक आदमी हाथ में छड़ी लेकर बाहर बैठा है. खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक हाथ में छड़ी लेकर आदमी मजदूरों से पूछता है कि वे किसका समर्थन कर रहे हैं तो मजदूर कहते हैं- भारतीय टीम का. इस पर वह मजदूरों को कहता है कि यह सही नहीं है क्योंकि वे यूएई में रहते है और उन्हें यूएई का समर्थन करना चाहिए. वह छड़ी घुमाते हुए बंधकों से दोबारा पूछता है कि वे किसका समर्थन करेंगे. इस बार मजदूरों का जवाब होता है- यूएई. इसके बाद वह पिंजरा खाल देता है और मजदूर बाहर निकल जाते हैं.

यूएई के अटॉर्नी जनरल के कार्यालय ने अपने बयान में इस घटना की पुष्टि की है. उसके मुताबिक वीडियो में दिख रहे शख्स ने पक्षियों के पिंजरे में एशियाई मूल के कई पुरुषों को कैद कर रखा है. उधर, इस वीडियो को यूट्यूब को पर डालने वाले शख्स ने कहा कि उसने केवल मजाक में ऐसा किया था. अपने बयान में उसने कहा, ‘ये सभी लोग मेरे कर्मचारी हैं. एक को मैं 22 साल से जानता हूं. मैं इस फार्म में इन लोगों के साथ रहता हूं, हम एक ही थाली में खाना खाते है. मैंने उन्हें मारा नहीं, न ही सच में किसी को कैद किया था.’ यूएई में ऐसे मामलों में छह महीने से 10 साल तक की सजा और 50,000 से 20 लाख दिरहम (13,611 डालर से 5.44 लाख डालर) तक का जुर्माना हो सकता है.