समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में चल रही उठा-पटक को लेकर सरकार पर निशाना साधा है. एनडीटीवी के मुताबिक अखिलेश यादव ने कहा है, ‘बीते दिनों सीबीआई के अधिकारियों के बीच काफी तकरार देखने को मिली है. अधिकारियों के बीच आरोप-प्रत्यारोप लगे हैं... इन सबको लेकर भला सीबीआई की जांच कौन करेगा?’

सपा अध्यक्ष के मुताबिक, ‘भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सीबीआई ही नहीं, बाकी एजेंसियों के साथ भी गठजोड़ कर रखा है.’ अखिलेश यादव ने आगे कहा, ‘कांग्रेस शासन में नेताजी (मुलायम सिंह यादव) के अलावा डिंपल यादव को भी सीबीआई जांच का सामना करना पड़ा था. आज भाजपा अपने फायदे के लिए इस केंद्रीय जांच एजेंसी का गलत इस्तेमाल कर रही है. भाजपा नेताओं को भी भविष्य में ऐसी ही स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए.’

उत्तर प्रदेश में रेत के अवैध खनन को लेकर सीबीआई ने बीते दिनों राज्य में कई जगहों पर छापामारी की थी. तब इसके अधिकारियों ने कहा था कि इस मामले में अखिलेश यादव व राज्य के पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से भी पूछताछ हो सकती है. अखिलेश यादव 2012-17 के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे थे और 2012-13 के बीच खनन विभाग उनके ही पास था.

इस बीच अखिलेश यादव ने यह भी कहा है, ‘लोकसभा के आगामी चुनाव के दौरान हम ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतने का लक्ष्य बनाए हुए हैं. जो लोग हमें ऐसा करने से रोकना चाहते हैं उनके साथ सीबीआई है. सीबीआई अगर मुझसे पूछताछ करना चाहती है तो मैं उसके सभी सवालों के जवाब देने के लिए तैयार हूं.’

इससे पहले शुक्रवार को ही खबर आई थी कि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती और समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव कल एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. पीटीआई ने बसपा महासचिव सतीश मिश्रा और सपा सचिव राजेंद्र चौधरी के हवाले से यह खबर दी है. एजेंसी के मुताबिक दोनों नेताओं ने एक साझा बयान जारी कर जानकारी दी है कि मायावती और अखिलेश शनिवार की दोपहर एक साझा संवाददाता सम्मेलन करेंगे.