तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ईके पलानिसामी ने कहा है कि उनकी पार्टी आने वाले चुनाव में उसी दल का समर्थन करेगी जो तमिलनाडु के हित की बात करेगा. चेन्नई में एक समारोह के दौरान उन्होंने कहा, ‘हम ऐसे लोगों के साथ कभी नहीं जाएंगे, जिन्होंने राज्य के हितों की अनदेखी की है. राज्य को धोख़ा दिया है.’

ख़बरों के मुताबिक चेन्नई में यह कार्यक्रम दूसरे दलों से सत्ताधारी एआईएडीएमके (अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम) में आए नेताओं के लिए रखा गया था. उसी में मुख्यमंत्री पलानिसामी ने आगामी लोक सभा चुनाव के लिहाज़ से अपनी पार्टी के रुख़ का संकेत दिया. उनका यह बयान इन ख़बरों के मद्देनज़र अहम है जिनमें कहा जा रहा है कि एआईएडीएमके लाेक सभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी से गठबंधन कर सकती है.

दो दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था, ‘मज़बूत एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) हमारे लिए आस्था का विषय है. इसीलिए जब भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ केंद्र की सत्ता में आई तब भी हमने सहयोगियों के साथ मिलकर सरकार चलाने को प्राथमिकता दी. हम अपने पुराने मित्रों (दलाें) का सम्मान करते हैं और नए दलों के लिए हमारे दरवाज़े हमेशा खुले हैं.’ प्रधानमंत्री ने ये बातें तमिलनाडु के ही अरक्कोणम, इरोड, कुड्‌डालोर, धरमपुरी और कृष्णगिरी में मतदान केंद्र स्तर के भाजपा कार्यकर्ताओं से वीडियो कॉन्फ्रेंस से हुई बातचीत के दौरान कही थीं.

प्रधानमंत्री मोदी के बयान के बाद यह भी अटकलें हैं कि भाजपा दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपर सितारा रजनीकांत की पार्टी के साथ भी गठबंधन कर सकती है. हालांकि रजनीकांत ने अभी पार्टी बनाई नहीं है. लेकिन उन्होंने लोक सभा चुनाव में अपनी नई पार्टी के उम्मीदवार उतारने की घोषणा की है. बीते दौर में भाजपा इस राज्य के लगभग सभी प्रमुख दलों के साथ गठबंधन कर चुकी है. हालांकि फिलहाल उसके पास यहां कोई साझीदार नहीं है.