ड्राइविंग लाइसेंस और आधार कार्ड को लिंक करना जल्द ही अनिवार्य हो सकता है. केंद्रीय कानून और न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस बात की घोषणा की है. उन्होंने यह बात पंजाब में आयोजित 106वीं इंडियन साइंस कांग्रेस में कही. अपने संबोधन में रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘हम कानून में एक और बड़ा बदलाव करने वाले हैं. जल्द ही मोटर वाहन लाइसेंस के साथ आधार को लिंक करना अनिवार्य होगा.’ जानकारी के मुताबिक इससे जुड़ा बिल संसद में पेश किया जा चुका है.

इस नियम के पीछे रविशंकर प्रसाद ने दलील दी कि आधार कार्ड से जुड़ने पर फ़र्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनने पर तो रोक लगेगी ही, लाइसेंस का दुरुपयोग किए जाने के आसार भी घट जाएंगे. उन्होंने उदहारण दिया, ‘यदि पंजाब का कोई व्यक्ति चार लोगों की हत्या कर किसी और राज्य पहुंच जाए, तो वह दूसरे पहचान पत्र से डुप्लीकेट लायसेंस बनवा सकता है. लेकिन आधार से लिंक होने के बाद वह नाम तो बदल सकता है, पर अपनी पहचान नहीं. ऐसे में जब भी ऐसा कोई व्यक्ति फ़र्जी या डुप्लीकेट लायसेंस बनवाना चाहेगा तो सिस्टम उसे तुरंत पकड़ लेगा.’

अपने इस बयान में केंद्रीय मंत्री ने आगे जोड़ा, ‘ड्राइविंग लाइसेंस से आधार कार्ड के जुड़ने के बाद बिना चालान दिए वाहन चलाना इतना आसान नहीं रहेगा क्योंकि सुरक्षा नियम तोड़ने पर चालकों का रिकॉर्ड उपलब्ध रहेगा.’

मारुति सुज़ुकी की गाड़ियां महंगी हुईंं

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति-सुज़ुकी ने अपने वाहनों की कीमतें बढ़ाने का फैसला लिया है. अपने इस निर्णय के लिए कंपनी ने निर्माण में लगने वाली वस्तुओं की कीमत बढ़ने तथा विदेशी मुद्रा विनिमय दरों के असर को प्रमुख वजह बताया है. मारुति-सुज़ुकी ने बयान ज़ारी कर जानकारी दी है कि उसकी अलग-अलग गाड़ियों की कीमतों में दस हजार रुपए (एक्स शोरूम दिल्ली) तक की बढ़ोतरी की जाएगी.

अपने उत्पादों की कीमत बढ़ाने वाली मारुति इकलौती कंपनी नहीं. देश की तकरीबन सभी प्रमुख वाहन निर्माता कंपनियां अपनी गाड़ियों के दामों में बढ़ोतरी की घोषणा पहले ही कर चुकी हैं. टाटा मोटर्स की बात करें तो उसने यह वृद्धि 40,000 रुपए के आस-पास रखने का फैसला लिया है. यह कीमत कार के वेरिएंट और शहर के मुताबिक निश्चित की जाएगी. वहीं जापान की ऑटोमोबाइल कंपनी निसान की भारतीय इकाई ने भी घोषणा की है कि नए साल में उसके सभी वाहनों की कीमत चार प्रतिशत तक बढ़ा दी जाएगी. कीमतों में होने वाली यह बढ़ोतरी निसान के सहयोगी ब्रांड डैटसन की कारों में भी देखने को मिलेगी.

जापान की ही वाहन निर्माता कंपनी टोयोटा ने भी कहा है कि वह अपने सभी वाहनों की कीमत में 4 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी कर सकती है. भारतीय बाज़ार में फिलहाल टोयोटा की हैचबैक लिवा से लेकर लग्‍जरी एसयूवी लैंड क्रूजर तक मौजूद है जिनकी कीमत 5.25 लाख रुपए से लेकर 1.41 करोड़ रुपए तक जाती है. जापान की ही ईसुज़ु मोटर्स ने भारत में बिकने वाली अपनी दो लोकप्रिय गाड़ियों- डी मैक्स पिकअप और एसयूवी एमयू-एक्स की कीमतों में 1-2 प्रतिशत की बढ़ोतरी की घोषणा कर दी है. इनमें कमर्शियल रेन्ज की डी-मैक्स रेगुलर कैब अैर डी-मैक्स एस कैब शामिल हैं.

अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी फोर्ड की भारत इकाई ने भी जनवरी से अपनी गाड़ियों के दाम 2.5 फीसदी तक बढ़ाने का फैसला लिया है. फ्रेंच ऑटोमोबाइल कंपनी रेनो मोटर्स भी भारत में अपनी गाड़ियों की कीमतों में 1.5 प्रतिशत तक बढ़ोतरी करने की घोषणा कर चुकी है. जर्मन ऑटोमोबाइल कंपनी फॉक्सवैगन ने भी भारत में बेची जा रही अपनी कारों की कीमतें तकरीबन तीन प्रतिशत तक बढ़ाए जाने की बात कही है.

होंडा सिटी का नया अवतार

होंडा कार्स इंडिया ने अपनी लोकप्रिय सेडान ‘सिटी’ के पेट्रोल ट्रिम के लिए नया वेरिएंट ‘ज़ेडएक्स एमटी’ लॉन्च कर दिया है. यह कार की ज़ेडएक्स रेंज का टॉप स्पेक्स मॉडल है. बाज़ार में इस कार की लंबे समय से चर्चा की जा रही थी. कंपनी ने इस वेरिएंट के साथ सिर्फ मैनुअल ट्रांसमिशन का विकल्प दिया है. कंपनी की मानें तो उसने ऐसा ग्राहकों की बढ़ती मांग की वजह से किया है. होंडा ने ज़ेडएक्स वेरिएंट को सबसे पहले 2017 में लॉन्च किया था.

कंपनी ने सिटी ज़ेडएक्स एमटी को दो नए कलर्स - रेडिएंट रेड मेटेलिक और लूनर सिल्वर मेटेलिक में तैयार किया है. कंपनी की इस नई पेशकश में 6-एयरबैग, एलईडी हैडलैंप्स के साथ डेटाइम रनिंग लाइट्स, एलईडी लैंप्स, एलईडी टेललाइट्स, और प्लेट लैंप्स दिए गए हैं. कार के ट्रंक लिड स्पॉइलर पर भी एलईडी वर्क दिया गया है, जो इसे खासा प्रीमियम फील देता है. नई सिटी ज़ेड एक्स में दिए गए अन्य फीचर्स की बात करें तो इस कार में इलेक्ट्रिक सनरूफ के साथ वन-टच ओपन-क्लोज़ फंक्शन और ऑटो-रिवर्स दिया गया है. यहां आपको कार के ज़ेडएक्स वेरिएंट वाला टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, ऑटो हाईलाइट्स, रेन सेंसिंग वाइपर्स और स्टैंडर्ड तौर पर दिए गए रियर पार्किंग सेंसर्स भी मिलते हैं.

परफॉर्मेंस के लिहाज़ से देखें तो होंडा ने अपनी सिटी के नए एडिशन में कोई बदलाव नहीं किए हैं. कार के बोनट के नीचे आपको वही 1.5 लीटर क्षमता का चार सिलेंडर वाला इंजन मिलता है जो 119 पीएस की अधिकतम पॉवर के साथ 145 एनएम का टॉर्क उत्पन्न करने में सक्षम है. इस भरोसेमंद और दमदार इंजन की मदद से यह कार 100 किलोमीटर/घंटा की रफ़्तार पकड़ने में सिर्फ 9.64 सेकंड का समय लेती है. एक प्रमुख ऑटोवेबसाइट का दावा है कि वास्तविक परिस्थितियों में चलाने पर यह कार शहर में 13.86 किलोमीटर/लीटर और हाईवे पर 19.21 किलोमीटर/लीटर की बेहतरीन माइलेज देने में सक्षम है. इसके अलावा स्लीक शिफ्टिंग 5-स्पीड मैनुअल गियर बॉक्स के साथ कार का यह एडिशन चलने में आपको पहले से ज्यादा स्मूथ व मजेदार महसूस होगा.

होंडा ने सिंटी ज़ेडएक्स एमटी के लिए 12.75 लाख रुपए (दिल्ली एक्सशोरूम कीमत) कीमत तय की है. ऑटोविश्लेषकों की मानें तो बाज़ार में मारुति-सुज़ुकी सिआज़ के आ जाने से सेडान सेगमेंट की लेजेंड कही जाने वाली सिटी की बिक्री बुरी तरह प्रभावित हुई है. और बची कुची कसर ह्युंडई ने अपनी कार वर्ना में समय-समय पर जरूरी अपडेट देकर पूरी कर दी. देखने वाली बात होगी कि होंडा की यह नई पेशकश सेडान सेगमेंट में उसे कितना सहारा दे पाती है.