महात्मा गांधी का नाम न केवल भारतीय जनमानस में बल्कि पूरी दुनिया में स्थायी छाप की तरह मौजूद है. देश इस वर्ष बापू की जयंती का 150वां वर्ष मना रहा है. गांधी जी ने 13 जनवरी, 1948 को विभाजन की त्रासदी से उपजे साम्प्रदायिक उन्माद के खिलाफ अंतिम उपवास शुरू किया था. इसमें हजारों लोग शामिल हो गये जिनमें भरी तादाद में हिंदू और सिखों के अलावा पाकिस्तान से आये शरणार्थी भी थे.

इसके बाद 18 जनवरी 1948 को सुबह 11.30 बजे विभिन्न संगठनों के 100 से ज्यादा प्रतिनिधि गांधी जी से मिले और शांति के लिए उनकी शर्तें स्वीकार की जिसके बाद गांधी जी ने उपवास के अंत की घोषणा की.

इस तारीख से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण घटनायें इस प्रकार हैं :-

1709 : मुग़ल शासक बहादुर शाह प्रथम ने सत्ता संघर्ष में अपने भाई कमबख्श को हैदराबाद में पराजित किया.

1849 : द्वितीय आंग्ल सिख युद्ध के दौरान चिलियांवाला की प्रसिद्ध लड़ाई शुरू हुई.

1948 : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने हिन्दू-मुस्लिम एकता बनाये रखने के लिये अंतिम उपवास शुरू किया था.

1964 : पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में हिंदू और मुसलमानों के बीच भयानक सांप्रदायिक दंगे हुए थे जिनमें कम से कम 100 लोग मारे गए और 400 से ज़्यादा लोग घायल हुए थे.

1993 : अमेरिका और उसके सहयोगियों ने दक्षिणी इराक़ में नो फ़्लाई ज़ोन लागू करने के लिए आज के दिन इराक़ पर हवाई हमले की शुरूआत की थी.

2006 : ब्रिटेन ने परमाणु कार्यक्रम को लेकर ईरान पर सैन्य आक्रमण से इन्कार किया.