उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में उधार लिए रुपये वापस न दे पाने पर ग्राम प्रधान ने दलित को न सिर्फ कोल्हू से बांधकर पीटा बल्कि उसे जूते से पेशाब पिलाई. पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने पर पीडि़त ने कोर्ट से गुहार लगाई जिसके बाद यह मामला प्रकाश में आया. अब कोर्ट के आदेश पर क्षेत्राधिकारी ने थाना प्रभारी से जांच रिपोर्ट तलब की है.

बरेली के खनपुरा गांव के रहने वाले सुरेश चंद्र ने मीडिया को बताया कि उसने कुछ महीने पहले प्रधान से रुपये उधार लिए थे जिसके बदले में प्रधान को पंचायत चुनाव में वोट दिया था. सुरेश का आरोप है कि बीते 13 दिसंबर को जब वह मजदूरी करने जा रहा था तब ग्राम प्रधान और उसके समर्थकों ने उसे घेर लिया और जातिसूचक गालियां देनी शुरू कर दीं. पीड़ित के मुताबिक जब उसने इसका विरोध किया तो प्रधान के समर्थकों ने कोल्हू से बाँधकर उसकी पिटाई की. सुरेश का आरोप है कि इस दौरान प्रधान ने उसे जूते में पेशाब भरकर पिलाई.

सुरेश चंद्र के मुताबिक इसके बाद उसने इस घटना की शिकायत पुलिस से की तो रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई. पुलिस के बड़े अफसरों ने भी जब सुनवाई नहीं की तो कोर्ट में अर्जी देकर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग की.