राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ‘नैतिक भ्रष्टाचार का पितामह’ बताया है. बुधवार को नीतीश कुमार ने कहा था कि आरजेडी-जेडीयू सरकार के समय राहुल गांधी के भ्रष्टाचार के खिलाफ स्टैंड नहीं लेने की वजह से उन्होंने महागठबंधन छोड़ना पड़ा. उनके इसी बयान को लेकर तेजस्वी यादव ने उन पर निशाना साधा है.

पीटीआई के मुताबिक तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा, ‘भारतीय राजनीति में कोई भी नीतीश कुमार जी के मानकों से मेल नहीं खाता है. वे न केवल राजनीति, नैतिक या सामाजिक रूप से निंदनीय हैं, बल्कि नैतिक भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह हैं. आप उन्हें कभी अपनी गलतियों को स्वीकार करते हुए नहीं पाएंगे. वे अपनी गलतियों के लिए साझेदारों के साथ-साथ विरोधियों पर दोष मढ़ते हैं.’

इससे पहले नीतीश कुमार ने एक समाचार चैनल के कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुव गांधी पर आरोप लगाया था कि जब तेजस्वी यादव के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों से उनकी राज्य सरकार जूझ रही थी, तब कांग्रेस प्रमुख ने कोई स्टैंड नहीं लिया. तेजस्वी यादव उस समय राज्य के उपमुख्यमंत्री थे. नीतीश कुमार का आरोप था कि राहुल ने एक बयान तक जारी नहीं किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर उन्होंने बयान जारी किया होता तो वे महागठबंधन को छोड़ने और एनडीए में फिर से शामिल होने के बारे में दूसरी बार सोचने पर मजबूर होते.