राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने सैनिकों को लेकर एक बयान दिया है जिससे केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की दिक्कतें बढ़ सकती हैं. गुरुवार को एक कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा कि देश में कोई युद्ध नहीं हो रहा है, फिर भी सीमाओं पर सैनिक शहीद हो रहे हैं. पीटीआई के मुताबिक आरएसएस प्रमुख ने प्रहार समाज जागृति संस्था के रजत जयंती कार्यक्रम के अवसर पर कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि ‘हम अपना काम ठीक से नहीं कर रहे हैं.’

खबर के मुताबिक भागवत ने कहा, ‘भारत को आजादी मिलने से पहले देश के लिए जान कुर्बान करने का वक्त था. आजादी के बाद युद्ध के दौरान किसी को सीमा पर जान कुर्बान करनी होती है. (लेकिन) हमारे देश में (इस वक्त) कोई युद्ध नहीं है फिर भी लोग (सैनिक) शहीद हो रहे है...क्योंकि हम अपना काम ठीक ढंग से नहीं कर रहे हैं.’

संघ प्रमुख ने आगे कहा, ‘अगर कोई युद्ध नहीं है तो कोई कारण नहीं है कि कोई सैनिक सीमा पर अपनी जान गंवाए. लेकिन ऐसा हो रहा है.’ उन्होंने कहा कि इसे रोकने और देश को महान बनाने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए.