‘2025 त​क अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो जाना चाहिए.’  

— भैयाजी जोशी, संघ के सर कार्यवाह

भैयाजी जोशी ने यह बात नागपुर में एक कार्यक्रम के दौरान कही. उन्होंने कहा कि राम मंदिर के निर्माण में पांच साल का समय लगेगा. ऐसे में आज से ही निर्माण का काम शुरू कर दिया जाना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि रामजन्मभूमि मुद्दा सिर्फ ‘मंदिर’ तक सीमित नहीं है बल्कि यह देश के करोड़ों लोगों की ‘आस्था व विश्वास’ का सवाल है. उनके मुताबिक, ‘गुजरात के सोमनाथ मंदिर की तरह राम मंदिर भी अयोध्या के विकास में सहायक सिद्ध होगा.’

‘लोकसभा का अगला चुनाव देश की आत्मा और इसके भविष्य को बचाने की लड़ाई है.’  

— शशि थरूर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

​शशि थरूर ने यह बात भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विरोधी दलों के महागठबंधन के समर्थन में कही है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 2014 में भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के गठन के बाद से देश की संस्थाएं दुर्बल हुई हैं. कांग्रेस सांसद के मुताबिक आज इनकी स्वायत्ता पर संकट है. देश में लोकतंत्र कमजोर हुआ है और आर्थिक विकास भी बाधित है. देश को इन समस्याओं से मुक्त कराने के लिए भाजपा विरोधी दलों को एकजुट होना चाहिए. शशि थरूर ने आगे विपक्षी दलों के महागठबंधन को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पहले ही अपना रुख स्पष्ट कर चुके हैं.


‘आगामी आम चुनाव के मद्देनजर आम आदमी पार्टी कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं करेगी.’  

— गोपाल राय, आम आदमी पार्टी के नेता

गोपाल राय ने यह बात कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कही. उन्होंने आगे कहा, ‘हमने जहर का घूंट पीकर देशहित में कांग्रेस के साथ समझौता करने का विचार किया था. लेकिन हमें लगता है कि कांग्रेस के लिए उसका अहंकार देशहित से ऊपर है.’ गोपाल राय ने आगे कहा कि उनकी पार्टी दिल्ली, हरियाणा, पंजाब व गोवा की सभी लोकसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी और इन राज्यों में वह अपने दम पर ही चुनाव लड़ेगी.


‘एक निर्देशक ने मेरा यौन उत्पीड़न किया, यह समझने में मुझे कई साल लग गए.’  

— स्वरा भास्कर, अभिनेत्री

स्वरा भास्कर ने यह बात एक कार्यक्रम के दौरान कही. इस दौरान उन्होंने यह भी कहा, ‘एक परिचर्चा के दौरान मैंने किसी को उनके खराब अनुभव साझा करते हुए सुना था. तब मुझे इस बात का अहसास हुआ कि तीन साल पहले जो कुछ मेरे साथ हुआ वह यौन उत्पीड़न था.’ स्वरा भास्कर के मुताबिक लड़कियों को यौन उत्पीड़न वाले व्यवहार को पहचानने की शिक्षा नहीं दी जाती है. ऐसे में इस दिशा में पहल किए जाने की जरूरत है.


‘मैं टीम की जरूरत के मुताबिक किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हूं.’  

— महेंद्र सिंह धोनी, भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य

महेंद्र सिंह धोनी ने यह बात पूछे गए एक सवाल के जवाब में कही. उन्होंने कहा, ‘मैं किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी करके खुश हूं. मैं चौथे स्थान पर बल्लेबाजी करूं या फिर छठवें स्थान पर, मैं समझता हूं कि टीम का संतुलन बरकरार रहना चाहिए. उन्होंने आगे कहा, ‘14 साल भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा रहने के बाद मैं यह नहीं कह सकता हूं कि मैं छठवें नंबर पर बल्लेबाजी नहीं कर सकता.’