अमेरिका में जारी आंशिक कामकाज बंदी को खत्म करने की कोशिश में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डेमोक्रेटिक पार्टी के सामने कुछ प्रस्ताव रखे हैं. ट्रंप ने कहा है कि वह मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए 5.7 अरब डॉलर के अनुदान के बदले अवैध रूप से देश में प्रवेश करने वाले बच्चों को संरक्षण देने को तैयार हैं. उनके मुताबिक यह प्रस्ताव उन सात लाख लोगों को तीन साल के लिए कानूनी राहत देगा जिन्हें उनके अभिभावक कई वर्ष पहले कम उम्र में गैरकानूनी तरीके से यहां लेकर आए थे. पीटीआई के मुताबिक राष्ट्रपति ने निर्वासन का सामना करने वाले प्रवासियों के अन्य समूहों को भी संरक्षण देने की बात कही है.

व्हाइट हाउस से दिए एक संबोधन में डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी कहा, ‘वक्त आ गया है कि हम बदलाव से डरने वाले उन कट्टर विचारों से अपना भविष्य अलग कर लें. उनसे अलग हो जाएं जो खुली सीमा की मांग कर रहे हैं, जिसका सीधा मतलब है मादक पदार्थों तस्करी, मानव तस्करी और अन्य अपराधों का देश में आना.’ उन्होंने सीमा पर दीवार बनाने की अपनी योजना का बचाव करते हुए एक बार फिर कहा, ‘कट्टरपंथी वाम कभी हमारी सीमाओं को नियंत्रित नहीं कर सकते, दीवार अनैतिक नहीं है बल्कि उसके विपरित है क्योंकि वह कई जिंदगियां बचाएगी.’

हालांकि, डेमोक्रैट्स ने राष्ट्रपति के इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. उनका कहना है कि यह प्रस्ताव बातचीत करने के लायक भी नहीं है. डेमोक्रेटिक नेता और अमेरिकी संसद के निचले सदन में स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने कहा, ‘राष्ट्रपति के इन प्रस्तावों में से एक भी किसी सदन में पारित नहीं होगा, और यह बातचीत करने के योग्य भी नहीं हैं. ये प्रस्ताव स्थायी समाधान नहीं है. उन्हें आगे आकर शटडाउन को खत्म करना चाहिए.’