इजरायल ने सोमवार तड़के सीरिया में कई ठिकानों को निशाना बनाकर हमले किए. पीटीआई के मुताबिक
इनमें सरकार समर्थक कम से कम 11 लड़ाकों की मौत हो गई. मारे जाने वालों में दो सीरियाई नागरिक भी हैं.

‘सीरियन ऑब्जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स’ ने कहा है कि पिछले साल मई के बाद से सीरिया में इजरायल का यह सबसे भीषण हमला है. संस्था के प्रमुख रामी अब्देल रहमान ने बताया ‘इजराइल ने दक्षिण दमिश्क के करीब ईरानी और सीरियाई सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया.’ उन्होंने बताया कि लेबनानी शिया विद्रोही हिजबुल्ला और ईरानी लड़ाकों के आयुध भंडार सहित कई ठिकानों को निशाना बनाया गया. ‘सीरियन ऑब्जरवेटरी फोर ह्यूमन राइट्स’ सीरिया में युद्ध की स्थिति पर नजर रखने वाली ब्रिटेन स्थित संस्था है.

उधर, इजरायल की सेना ने कहा है कि उसने ये हमले सीरिया में ईरान के ठिकानों पर किए. उसका यह भी कहना है कि इस कार्रवाई को सीरियाई क्षेत्र से दागे गए एक रॉकेट को गिराने के बाद अंजाम दिया गया.