शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे के जीवन पर आधारित फिल्म ‘ठाकरे’ रिलीज़ से पहले ही विवाद में उलझती दिख रही है. ख़बरों के मुताबिक मुंबई में फिल्म के प्रीमियर का इसके निर्देशक अभिजीत पणसे ने ही बहिष्कार कर दिया. बल्कि प्रीमियर के दौरान ही उनकी फिल्म के निर्माता और शिवसेना सांसद संजय राउत से बहस भी हो गई. यह फिल्म शुक्रवार 25 जनवरी को रिलीज़ हो रही है.

बताया जाता है कि फिल्म के प्रीमियर के लिए अभिजीत पणसे परिवार सहित वडाला स्थित थिएटर पहुंचे थे. लेकिन उन्हें यहां पहुंचने में कुछ देर हो गई. इसलिए उन्हें और उनके परिजनों को सबसे आगे वाली सीटों पर बैठने के लिए कह दिया गया. जबकि उनके बैठने के लिए पीछे वाली सीटें आरक्षित थीं. बताया जाता है कि अभिजीत इसी बात पर आयोजकों से ख़फ़ा हो गए और थिएटर से बाहर चले गए. बाहर उनकी इसी बात पर फिल्म के निर्माता संजय राउत से भी बहस हो गई. उनकी इस बहसबाज़ी का वीडियो सोशल मीडिया पर भी प्रसारित हो रहा है.

ख़बरों की मानें तो राउत ने पणसे को समझाने की कोशिश की. लेकिन वे नहीं माने और चले गए. इस विवाद को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) ने हवा देने की कोशिश की है. पार्टी के एक नेता अविनाश जाधव ने विवाद सामने आने के बाद ट्वीट किया, ‘एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने अभिजीत को समझाया था. उनसे कहा था कि शिवसेना उन्हें (अभिजीत को) कोई श्रेय नहीं देगी. सिर्फ़ फिल्म निर्माण के लिए उनका इस्तेमाल करेगी. फिर बाहर का रास्ता दिखा देगी. वही हुआ.’ हालांकि इस पर अभिजीत की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.