‘मैं नरेंद्र मोदी से मुकाबला करूंगा, लेकिन उनसे नफरत नहीं करूंगा.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात ओडिशा में एक रैली को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने कहा, ‘मैं महसूस करता हूं कि मेरे और नरेंद्र मोदी के बीच अनेक मुद्दों पर असहमतियां हैं. मेरी इच्छा है कि नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद पर न रहें. इसके लिए मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूंगा.’ राहुल गांधी ने आगे कहा, ‘जब प्रधानमंत्री मेरे लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करते हैं तो मुझे ऐसा लगता है कि मैं उनके गले लग रहा हूं...’

‘देश के संसाधनों पर हर नागरिक का एक समान अधिकार है.’  

— रामनाथ कोविंद, राष्ट्रपति

रामनाथ कोविंद ने यह बात गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कही. उन्होंने कहा, ‘हमें ऐसे देश का निर्माण करना है जहां हर धर्म, समुदाय और जाति के लोगों को समुचित जगह मिले. जो भाई-बहन विकास की यात्रा में पीछे छूट गए हैं उन्हें भी हमें साथ लेकर आगे बढ़ना है.’ इसके साथ ही राष्ट्रपति ने 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में देशवासियों से अपने मताधिकार के इस्तेमाल की अपील भी की. मताधिकार के इस्तेमाल को उन्होंने लोकतंत्र में सक्रिय भागीदारी निभाने का अहम अवसर भी बताया.


‘कोई सरकार स्थाई नहीं होती, अधिकारियों को छापामारी का जवाब देना होगा.’  

— आनंद शर्मा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

आनंद शर्मा का यह बयान हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के घर पर केंद्रीय जांच ब्यूरो की छापामारी को लेकर आया है. उन्होंने कहा, ‘आम चुनाव करीब ही हैं. केंद्र में जब नई सरकार का गठन होगा तो सीबीआई के अधिकारियों को इस कार्रवाई का जवाब देना होगा.’ आनंद शर्मा के मुताबिक हुड्डा के खिलाफ कार्रवाई से महसूस होता है कि केंद्र सरकार जान गई है कि अगले चुनाव में उसकी हार होगी.


‘शून्य में शून्य जोड़ने पर शून्य ही आता है.’  

— योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

योगी आदित्यनाथ ने यह बात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी वॉड्रा के सक्रिय राजनीति में प्रवेश पर कही है. नोएडा में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कांग्रेस में प्रियंका गांधी की नियुक्ति को ‘राजनीतिक वंशवाद’ की परंपरा को आगे बढ़ाने के जैसा बताया. योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा, ‘राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री नोएडा आने से घबराते थे. सिर्फ उस मिथ से कि यहां का दौरा करने वाला अपने पद पर नहीं रह पाता. लेकिन मैंने 2017 से कई बार नोएडा का दौरा किया है, क्योंकि मैं सत्ता के लिए नहीं बल्कि लोगों के लिए काम कर रहा हूं.’


‘हम पूछना चाहते हैं कि क्या कांग्रेस अब तक जोकर के साथ खेल रही थी?’  

— परेश रावल, अभिनेता

परेश रावल ने यह बात एक ट्वीट के जरिये कांग्रेस और पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कही है. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा है, ‘वो (कांग्रेस के नेता) कहते हैं कि अब हमने अपना ट्रंप कार्ड उतारा है. ऐसे में हम यह पूछना चाहते हैं कि अब तक आप जोकर से क्यों खेल रहे थे.’ इससे पहले इसी हफ्ते कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को कांग्रेस का राष्ट्रीय महासचिव बनाने की घोषणा की थी. तब कांग्रेस के नेताओं ने इसे पार्टी का ‘ट्रंप कार्ड’ बताया था.