जानी-मानी लेखिका गीता मेहता ने पद्म श्री सम्मान लौटाने की घोषणा की है. उन्हें केंद्र सरकार सरकार ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर यह सम्मान दिए जाने की घोषणा की थी. गीता मेहता ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की बड़ी बहन हैं.

ख़बरों के मुताबिक गीता मेहता ने शनिवार को जारी बयान में कहा, ‘मैं सम्मानित महसूस कर रही हूं कि भारत सरकार ने मुझे पद्म श्री जैसे सम्मान के लायक समझा. लेकिन मुझे बड़े ख़ेद के साथ कहना पड़ रहा है कि मैं इस समय यह सम्मान स्वीकार नहीं कर सकती. देश में लोक सभा चुनाव नज़दीक आ रहे हैं. इस वक़्त मेरे द्वारा यह सम्मान लेने से मुझे और सरकार दोनों को असहज स्थिति का सामना करना पड़ सकता है.’ गीता मेहता काे साहित्य और शिक्षा की श्रेणी में यह सम्मान दिया गया था.

वैसे गीता मेहता की भारतीय नागरिकता पर भी विवाद की छाया दिख रही है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को जब इस सम्मान के लिए उनके नाम की घोषणा की थी तो उन्हें ‘विदेशी नागरिक’ बताया गया था. हालांकि ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के दफ़्तर से जुड़े सूत्रों की मानें तो गीता मेहता भारतीय नागरिक हैं. ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक की बेटी गीता की शादी जाने-माने प्रकाशक एवं मुद्रक सोनी मेहता के साथ हुई है.