प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने साेमवार को पश्चिम बंगाल के सत्ताधारी दल- टीएमसी (तृणमूल कांग्रेस) के सांसद केडी सिंह की लगभग 238 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की है. जो संपत्तियां जब्त की गई हैं उनमें कुफरी में स्थित एक रिज़ॉर्ट, चंडीगढ़ में स्थित शोरूम, पंचकूला और हरियाणा में स्थित संपत्तियां और कुछ बैंक खाते शामिल हैं.

इंडिया टुडे के मुताबिक केडी सिंह के ख़िलाफ़ यह कार्रवाई लगभग 1,916 करोड़ रुपए के चिटफंड घोटाले से संबंधित है. ईडी ने सिंह और उनकी फर्म अलकेमिस्ट इन्फ्रा रियलिटी लिमिटेड के ख़िलाफ़ सितंबर-2016 में आपराधिक मामला दर्ज़ किया था. शेयर बाज़ार नियामक- सेबी (सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया) के आरोप पत्र के आधार पर पीएमएलए (प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्डरिंग एक्ट) के तहत यह मामला दर्ज़ हुआ था. सेबी ने केडी सिंह की कंपनी और उसके निदेशकों के ख़िलाफ़ आरोप पत्र दायर किया था.

सेबी ने इसमें आरोप लगाया था कि कंपनी ने अवैध रूप से चलाई गई चिटफंड योजनाओं के जरिए 2015 से आम जनता से 1,916 करोड़ रुपए की उगाही की. इस कंपनी ने सेबी के अनुमति के बिना ही ये चिटफंड योजनाएं शुरू की थीं. इसलिए उसे निवेशकों से धोखाधड़ी का आरोपित माना गया. इस आरोप पत्र के बाद कंपनी ने सेबी को बताया कि उसने जनता से उगाहे गए पैसे में से 1,077 करोड़ रुपए लौटा दिए. थोड़ा समय और दिया जाए तो बाकी पैसे भी लौटा दिए जाएंगे. लेकिन सेबी ने यह आग्रह और दलील नहीं मानी थी.