लोक सभा चुनाव से ठीक पहले हरियाणा की प्रतिष्ठापूर्ण जींद विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में राज्य की मनोहर लाल खट्‌टर सरकार को राहत मिली है. इस सीट पर सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के कृष्ण मिड्‌ढा ने जीत हासिल की है.

ख़बरों के मुताबिक कृष्ण मिड्‌ढा ने अपने नज़दीकी प्रत्याशी जेजेपी (जननायक जनता पार्टी) के दिग्विजय चौटाला को 12,248 वोटों से हराया. मिड्‌ढा को 49,929 वोट मिले. जबकि दिग्विजय चौटाला को 37,681 वोट. कांग्रेस ने अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला को उतारकर यह मुकाबला रोचक बनाने की कोशिश की थी. लेकिन सुरजेवाला को 22,547 वाेट ही हासिल हो पाए. वे तीसरे स्थान पर रहे. यह सीट कृष्ण मिड्‌ढा के पिता हरिचंद्र मिड्‌ढा के निधन से खाली हुई थी. हरिचंद्र मिड्‌ढा इस सीट से दो बार विधायक चुने गए थे.

हालांकि इस चुनाव में चौटाला परिवार की लड़ाई भी सामने आई. और इससे इसी परिवार को होने वाला नुकसान भी. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के पुत्र अजय सिंह ने बीते दिसंबर में ही पिता की आईएनएलडी (भारतीय राष्ट्रीय लोकदल) से अलग होकर नई पार्टी जेजेपी बनाई थी. इसके बाद हुआ यह पहला चुनाव अजय सिंह के लिए भी मायने वाला था. इसीलिए उन्होंने इसमें अपने छोटे पुत्र दिग्विजय काे उतारा, जो मतगणना के शुरूआती दौर में आगे भी थे. लेकिन आईएनएलडी के प्रत्याशी ने उनकी जीत का रास्ता रोक दिया.