संसद में बजट पेश कर रहे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने अपनी सरकार का अगले साल दस का विजन पेश किया. उन्होंने कहा कि आने वाले वर्षों में हर क्षेत्र में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे. कार्यवाहक वित्त मंत्री ने कहा कि अगले 5 साल में भारत की अर्थव्यवस्था पांच ट्रिलियन डॉलर की हो जाएगी और उनकी सरकार अगले 8 साल में इसे बढ़ाकर आठ ट्रिलियन डॉलर करना चाहते हैं. पीयूष गोयल ने कहा कि अगले 5 साल में सरकार एक लाख डिजिटल विलेज (गांव) बनाएगी.

बजट भाषण के दौरान सरकार ने गोवंश के लिए बड़े एलान किए हैं. पीयूष गोयल ने कहा कि उनकी सरकार गोवंश के लिए राष्ट्रीय कामधेनु योजना शुरू करेगी. वहीं, पशुपालन व मत्स्य पालन के लिए कर्ज में दो फीसदी ब्याज छूट की घोषणा की गई है. उन्होंने श्रमिकों के लिए भी बड़े एलान किए हैं.

पीयूष गोयल ने कहा कि कम आमदनी वाले श्रमिकों को वह गारंटी के साथ पेंशन मुहैया कराएगी. सरकार ने कहा कि 100 रुपये प्रति महीने के अंशदान पर 60 साल की उम्र के बाद हर महीने 3,000 रुपये की पेंशन दी जाएगी. पीयूष गोयल ने बताया कि श्रमिकों की न्यूनतम पेंशन 1,000 रुपये की गई है.

इसके अलावा श्रमिकों के लिए प्रधानमंत्री मानधन योजना की घोषणा की गई है. 15,000 रुपये तक कमाने वाले 10 करोड़ श्रमिकों को इसका फायदा मिलेगा. वहीं, श्रमिक के मारे जाने की स्थिति में मुआवजे की रकम ढाई लाख से बढ़ा कर छह लाख रुपये कर दी गई है.