‘अब समझ आया, ममता बनर्जी हमसे इतना डरी हुई क्यों हैं.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात पश्चिम बंगाल के ठाकुरनगर में एक रैली के दौरान वहां उमड़ी भीड़ की तरफ इशारा करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘यह हमारे लिए आपका स्नेह है जिसने उन्हें (ममता बनर्जी) डरा दिया है.’ मोदी ने आगे कहा कि इस रैली का माहौल देखकर उन्हें भरोसा हो गया है कि बंगाल अब बदलाव के रास्ते पर है. इसी मौके पर ‘नागरिकता संशोधन विधयेक’ का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से इसका समर्थन करने की अपील भी की.

केंद्र सरकार को नागरिकता संशोधन विधेयक वापस ले लेना चाहए.’  

— ममता बनर्जी, तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख

ममता बनर्जी का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस संशोधन विधेयक पर समर्थन मांगे जाने को लेकर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है, ‘इस विधेयक को पारित कराने में हम प्रधानमंत्री मोदी को सफल नहीं होने देंगे.’ इसके साथ ही प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए ममता बनर्जी ने यह भी कहा, ‘नरेंद्र मोदी का कार्यकाल कुछ ही दिनों का और बचा है. लेकिन ऐसा लगता है कि वे मानसिक रूप से प्रधानमंत्री का पद छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं.’


‘प्रधानमंत्री चौकीदार हैं तो देश की जनता थानेदार है.’  

— तेजस्वी यादव, राष्ट्रीय जनता दल के नेता

तेजस्वी यादव ने यह बात हरियाणा के गुरुग्राम में एक रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कही. इस मौके पर जेल में बंद अपने पिता लालू प्रसाद यादव की तरफ इशारा करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि जो लोग सच बोलते हैं उन्हें दंडित किया जाता है. यहां राजद नेता का यह भी कहना था कि जब आम लोग कोई सवाल करते हैं तो सत्ता में बैठे लोग उसका जवाब देने के बजाय समाज में जहर फैलाते हैं.


‘सीबीआई निदेशक पर मल्लिकार्जुन खड़गे की आपत्ति आधारहीन है.’  

— जितेंद्र सिंह, केंद्रीय मंत्री

जितेंद्र सिंह का यह बयान ऋषि कुमार शुक्ला को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) का निदेशक बनाए जाने पर जताई गई आपत्ति को लेकर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि मल्लिकार्जुन खड़गे सीबीआई प्रमुख के चयन के लिए तय मापदंडों को अपने हिसाब से बदलना चाहते थे. जितेंद्र सिंह के मुताबिक इस पद के लिए वे (खड़गे) अपनी पसंद के अधिकारियों का नाम भी शामिल कराना चाहते थे. इससे पहले शनिवार को ही खड़गे ने शुक्ला की नियुक्ति पर आपत्ति जताते हुए प्रधानमंत्री को एक ‘असहमति पत्र’ लिखा था.


‘हमारे मुख्यमंत्री जब लैपटॉप के बारे में जानते ही नहीं तो उसे वितरित कैसे करेंगे.’  

— अखिलेश यादव, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री

अखिलेश यादव का यह बयान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर अपने कार्यकाल में चलाई गई ‘लैपटॉप वितरण योजना’ की प्रशंसा करते हुए आया है. इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के मौजूदा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज भी कसा है. अखिलेश यादव के मुताबिक केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार गंगा को स्वच्छ करने में असफल रही है, इसीलिए वह गंगा की सफाई से लोगों का ध्यान हटाने के लिए गंगा एक्सप्रेस-वे की योजना लेकर आई.