यमन में संघर्ष विराम पर सहमति बनाने के लिए सरकार और हूती विद्रोहियों के बीच लाल सागर में एक जहाज में वार्ता की शुरूआत हुई. एक सरकारी अधिकारी ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर एएफपी को बताया कि नीदरलैंड के सेवानिवृत्त जनरल पैट्रिक कैम्माएर्ट की अध्यक्षता में हुदैदा शहर के तट पर संयुक्त राष्ट्र के जहाज में वार्ता शुरू हुई.

विद्रोहियों ने सरकार के अधीन आने वाले किसी भी क्षेत्र में वार्ता करने से इनकार कर दिया था, इसलिए संयुक्त राष्ट्र मिशन को बैठक का आयोजन वहां कराना पड़ा. दोनों पक्ष दिसंबर में स्वीडन में हुये समझौते को लागू करने के लिए अगला कदम उठाने पर चर्चा करेंगे. समझौते को लागू करने के लिए समझौता के कार्यान्वयन से संबंधित संयुक्त समिति की यह तीसरी बैठक है. संयुक्त राष्ट्र ने हूती विद्रोहियों के साथ यमन सरकार के युद्ध को मानवीय संकट करार दिया है.