सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर की भारतीय इकाई ट्विटर इंडिया को एक संसदीय समिति ने तलब किया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सूचना-तकनीकी मामलों की संसदीय समिति ट्विटर इंडिया से इसके यूज़र्स के अधिकारों की रक्षा और अन्य दूसरे मुद्दों पर चर्चा करना चाहती है. इस चर्चा के लिए समिति ने इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना तकनीकी मंत्रालय के अधिकारियों को भी बुलाया है. सभी संबंधित पक्षों के बीच यह बैठक 11 फरवरी को होगी.

यह बैठक भाजपा के नेता अनुराग ठाकुर की अध्यक्षता में होगी. उन्होंने आम जनता से भी इस मामले में राय मांगी है. इस बैठक में संसदीय समिति सरकारी अधिकारियों और ट्विटर के अधिकारियों से इस मसले पर भी चर्चा करेगी कि कैसे इस प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग को रोका जा सकता है.

यह घटना इस मायने में खास है कि इस हफ्ते की शुरुआत में ही यूथ फॉर सोशल मीडिया डेमोक्रेसी नाम के संगठन ने ट्विटर के खिलाफ एक विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया था. इस दक्षिणपंथी संगठन ने आरोप लगाया था कि यह सोशल मीडिया वेबसाइट दक्षिणपंथ के प्रति दुराग्रह रखती है और इससे संबंध रखने वाले लोगों का अकाउंट ब्लॉक कर देती है. साथ ही इस संगठन का यह भी कहना है कि ट्विटर अभद्र टिप्पणियां करने वाले उसके राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ ढीला रवैया अपनाता है. पीटीआई के मुताबिक इस मसले पर संगठन के कुछ सदस्यों ने अनुराग ठाकुर से संपर्क भी किया था.