पश्चिम बंगाल स्थित कलकत्ता हाई कोर्ट में बुधवार को पांच अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त किए गए. कानून मंत्रालय की अलग-अलग अधिसूचनाओं में कहा गया है कि न्यायाधीशों का दो साल का कार्यकाल होगा.

पीटीआई के मुताबिक अधिसूचना में कहा गया है कि जिन न्यायाधीशों की नियुक्ति की गई है, उनमें सौगता भट्टाचार्य, मनोजित मंडल, तीर्थंकर घोष, हिरनमय भट्टाचार्य और मोहम्मद निजामुद्दीन हैं. अतिरिक्त न्यायाधीश सामान्यत: दो साल के लिए नियुक्त किए जाते हैं जिसके बाद उन्हें उनके प्रदर्शन के आधार पर स्थायी न्यायाधीश के रूप में प्रोन्नत कर दिया जाता है.

बार एंड बेंच ने अधिसूचना के आधार पर बताया कि जस्टिस भट्टाचार्य, जस्टिस घोष, जस्टिस हिरनमय और जस्टिस निजामुद्दीन का कार्यकाल उनके पद संभालने के बाद दो साल के लिए होगा. लेकिन जस्टिस मनोजित मंडल का कार्यकाल 26 सितंबर, 2020 में खत्म हो जाएगा. इन जजों के आने से कलकत्ता हाई कोर्ट में जजों की संख्या 36 से 41 हो जाएगी.