कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखी टिप्पणी की है. स्क्रोल डॉट इन के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री को एक ‘डरपोक इंसान’ बताया है. इसके साथ ही उन्होंने नरेंद्र मोदी को रफाल विमान सौदे, राष्ट्रीय सुरक्षा, अर्थव्यवस्था सहित कई अन्य मुद्दों पर दस मिनट सीधी बहस करने चुनौती भी दी है. राहुल गांधी का यह भी कहना है कि यदि ऐसा हुआ तो नरेंद्र मोदी इतनी ही देर में उस बहस से भाग जाएंगे.

राहुल गांधी ने ये बातें दिल्ली में उनकी ही पार्टी द्वारा आयोजित ‘नेशनल माइनॉरिटी कॉन्फ्रेंस’ कार्यक्रम के दौरान कहीं. यहां उन्होंने यह भी कहा, ‘अगर आज आप नरेंद्र मोदी को देखें तो उनके चेहरे पर घबराहट साफ दिखाई देती है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘नरेंद्र मोदी को पता चल गया है कि देश को बांटकर शासन नहीं किया जा सकता. पांच साल पहले कहा जाता था कि मोदी देश पर 15 साल राज करेंगे. लेकिन आज उनकी प्रतिष्ठा खत्म हो गई है. देश का हर वर्ग उनकी अगुवाई वाली सरकार से परेशान है.’

इसके साथ ही राहुल गांधी ने केंद्र सरकार के नागपुर (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का मुख्यालय) से संचालित होने का दावा भी किया. उनका कहना था कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और संघ देश की हर संस्था पर अपना नियंत्रण चाहते हैं. लेकिन आगामी आम चुनाव के दौरान कांग्रेस इन दोनों ही संगठनों को हराएगी.

इसी मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री की चीन यात्रा को लेकर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी बिना किसी एजेंडे के ही बीजिंग वार्ता के लिए चले गए थे. राहुल गांधी के मुताबिक, ‘डोकलाम विवाद के दौरान देश के वीर सैनिकों को मोदी ने सीमा पर खड़ा तो कर दिया. लेकिन उनके हाथ बांध दिए. इससे चीन समझ गया कि 56 इंची सीने की बात करने वाली हमारे प्रधानमंत्री का सीना चार इंच का भी नहीं है.’

इसी कार्यक्रम में कांग्रेस की महिला इकाई की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने ‘तीन तलाक’ को लेकर एक अहम बयान दिया. उन्होंने कहा अगर आगामी आम चुनाव में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनी तो इस विधेयक को खत्म किया जाएगा. उन्होंने आगे कहा, ‘यह विधेयक मुस्लिम पुरुषों को जेल भेजने की साजिश है.’ उनका यह भी कहना था कि कांग्रेस ने संसद में भी इस विधेयक पर विरोध जताया था. साथ ही अन्य विपक्षी दलों की तरह उनकी पार्टी ने भी इसे प्रवर समिति के पास भेजे जाने का समर्थन किया था.