कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रफाल मामले को लेकर आज एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. उन्होंने आरोप लगाया कि इस विमान सौदे को लेकर नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के साथ समानांतर बातचीत की थी जिस पर उन्हें जवाब देना चाहिए.

पीटीआई के मुताबिक राहुल गांधी ने अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ की एक खबर के हवाले से कहा, ‘(फ्रांस के पूर्व प्रधानमंत्री फ्रांस्वा) ओलांद ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बोला था कि अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये का अनुबंध दिया जाए. अब रक्षा मंत्रालय कह रहा है कि प्रधानमंत्री ने समानांतर बात की और हमारी स्थिति कमजोर की. इस पर प्रधानमंत्री जवाब दें.’

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘वायुसेना के मेरे पायलट मित्रो, आप लोग समझ लो कि ये 30 हजार करोड़ रुपये आपके लिए इस्तेमाल हो सकते थे. उन्होंने (नरेंद्र मोदी) ये पैसे अनिल अंबानी को दे दिए. अब स्पष्ट है कि प्रधानमंत्री ने इस देश से चोरी की है. मैं कड़े शब्द इस्तेमाल नहीं करता, लेकिन करने को विवश हो रहा हूं कि भारत के प्रधानमंत्री चोर हैं.’

राहुल गांधी ने द हिंदू अखबार की जिस रिपोर्ट के हवाले से टिप्पणी की, उसके मुताबिक रक्षा मंत्रालय ने इस बात को लेकर आपत्ति जताई थी कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने रफाल विमान सौदे को लेकर फ्रांस के साथ समानांतर बातचीत की जिससे इस बातचीत में रक्षा मंत्रालय का पक्ष कमजोर हुआ.