कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और बीएस येदियुरप्पा पर आरोप लगाया है कि ये तीनों कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के नेतृत्व वाली सरकार गिराने का प्रयास कर रहे हैं. पार्टी ने यह आरोप बीएस येदियुरप्पा के उस ऑडियो टेप के सामने आने के बाद लगाया जिसमें वे कथित रूप से कर्नाटक के विधायकों को पैसे की पेशकश कर रहे हैं.

पीटीआई के मुताबिक इसी को लेकर आज कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरोप लगाया, ‘मोदी जी, अमित शाह जी और येदियुरप्पा जी की बदनाम तिकड़ी ने देश में संविधान और प्रजातंत्र को रौंद डाला है. ये गैंग ऑफ थ्री बन गए हैं जिनका किसी तरह सत्ता हासिल करना एकमात्र मकसद है.’ उन्होंने कहा, ‘इस टेप के जरिए अब मोदी और अमित शाह की भूमिका सामने आ गई है. गैंग ऑफ थ्री कर्नाटक की चुनी हुई सरकार को गिराना चाहती है. 200 करोड़ रुपये में 20 विधायकों को खरीदने करने की कोशिश की गई है. यहां तक कि उच्चतम न्यायालय को भी मैनेज करने की बात हो रही है.’

सुरजेवाला ने सवाल किया, ‘क्या सीबीआई और ईडी की छापेमारी येदियुरप्पा पर करवाएंगे? क्या देश के उच्चतम न्यायालय को स्वतः संज्ञान लेकर मोदी जी, भाजपा अध्यक्ष, येदियुरप्पा तथा दूसरे संबंधित नेताओं को नोटिस जारी नहीं करना चाहिए?’ वहीं, एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सोमवार को यह मामला संसद में उठेगा.

सुरजेवाला के अलावा कांग्रेस के संगठन महासचिव एवं कर्नाटक प्रभारी केसी वेणुगोपाल ने संवाददाताओं से कहा, ‘कर्नाटक से कल जो खबर आई इससे पूरा देश सकते में है. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने ऑडियो टेप जारी कर राज्य की निर्वाचित सरकार को अस्थिर करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के प्रयासों को बेनकाब कर दिया.’ वेणुगोपाल ने दावा किया, ‘मैंने ऑडियो क्लिप सुनी है. येदियुरप्पा जी एक-एक विधायक को दस करोड़ रुपये देने की पेशकश कर रहे हैं. एक विधायक को मंत्री पद और कुछ बोर्डों की जिम्मेदारी देने की बात कर रहे हैं. वे खुद नरेंद्र मोदी और अमित शाह का हवाला दे रहे हैं... विधायकों को देने के लिए भाजपा के पास सैकड़ो रुपये कहां से आए हैं?’