शारदा चिटफंड घोटाले के सिलसिले में शनिवार, नौ फरवरी को शिलॉन्ग में कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) पूछताछ करने जा रही है. ख़बरों के मुताबिक इसके लिए राजीव कुमार शिलॉन्ग स्थित सीबीआई दफ़्तर पहुंच चुके हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने बीते सप्ताह सीबीआई की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने का आदेश दिया था. साथ ही यह भी निर्देश दिया था कि वे पूरी ईमानदारी से जांच में सीबीआई का सहयोग करें. पूछताछ के लिए दिल्ली या कोलकाता के बजाय मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग को भी सुप्रीम कोर्ट ने ही चुना था. हालांकि सीबीआई के लिए भी अदालत ने यह स्पष्ट कर दिया था कि राजीव कुमार को ग़िरफ़्तार नहीं किया जाएगा.

ग़ौरतलब है कि शारदा चिटफंड घोटाले की जांच पहले पश्चिम बंगाल पुलिस के अधिकारी राजीव कुमार के नेतृत्व में हो रही थी. वे इसके लिए गठित विशेष जांच दल के प्रमुख थे. बाद में यह जांच सीबीआई को सौंप दी गई. अब सीबीआई इस मामले की कुछ छूटी कड़ियां जोड़ने के लिए राजीव कुमार से पूछताछ करना चाहती है. सीबीआई की टीम इसके लिए बीते रविवार को कोलकाता पहुंची थी. लेकिन वहां सीबीआई टीम के सदस्यों को ही पश्चिम बंगाल पुलिस ने ग़िरफ़्तार कर लिया.

बताया जाता है कि सीबीआई टीम के साथ पश्चिम बंगाल पुलिस ने हाथापाई भी की. काफी देर बाद उसने इन सदस्यों को छोड़ा. यही नहीं राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तक राजीव कुमार के बचाव में उतर आईं. उन्होंने तीन दिन तक इस कार्रवाई के विरोध में धरना दिया. इसी तमाशे के कारण सीबीआई को सुप्रीम कोर्ट की शरण लेनी पड़ी थी.