कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अफ़सरों की पूछताछ जारी है. शनिवार को इस सिलसिले का तीसरा दिन था. उनसे गुरुवार और शुक्रवार को कुल मिलाकर 11 घंटे पूछताछ की जा चुकी है. सूत्र बताते हैं कि ज़्यादातर सवाल रॉबर्ट वाड्रा के हथियार कारोबारी संजय भंडारी के साथ संबंधों के इर्द-ग़िर्द ही पूछे जा रहे हैं.

रॉबर्ट वाड्रा पर कालेधन को वैध करने के आरोप हैं. इसी सिलसिले में यह पूछताछ हो रही है. करीब 1.2 करोड़ पाउंड (लगभग 110 करोड़ रुपए) की ब्रिटेन में स्थित रॉबर्ट वाड्रा की संपत्तियां ईडी की जांच के दायरे में हैं. इनमें लंदन के 12-ब्रेयन्सटन स्क्वायर पर स्थित एक संपत्ति भी है. इसकी कीमत 19 लाख पाउंड (लगभग 17.51 करोड़ रुपए) बताई जाती है. बताया जाता है कि इस संपत्ति की ख़रीद-फ़रोख़्त में संजय भंडारी और उनके दो रिश्तेदारों ने रॉबर्ट वाड्रा का सहयोग किया था.

सूत्रों के मुताबिक गुरुवार को ईडी के अधिकारियों ने रॉबर्ट वाड्रा को कुछ ई-मेल दिखाए. इन ई-मेल संदेशों का आदान-प्रदान रॉबर्ट वाड्रा और सुमित चड्‌ढा के बीच हुआ था. सुमित चड्‌ढा लंदन में रहते हैं. वे संजय भंडारी के रिश्तेदार हैं. बताया जाता है कि एक मेल में सुमित चड्‌ढा ने लंदन के ब्रेयन्सटन स्क्वायर पर स्थित मकान में कराए गए काम के पैसे मांगे थे. ज़वाब में रॉबर्ट वाड्रा ने लिखा था, ‘मनोज इस मसले को देखेंगे.’ मनोज (अरोरा) रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी के पूर्व कर्मचारी हैं.