प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय संस्कृति और परंपरा में गायों का विशेष महत्व बताया है. स्क्रोल डॉट इन के मुताबिक उन्होंने यह बात उत्तर प्रदेश के वृंदावन में स्वयंसेवी संस्था ‘अक्षय पात्र’ द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था में गायों का हमेशा से अहम स्थान रहा है. इसलिए उनकी सरकार ने गोवंश के सुधार के लिए कई बड़े कदम भी उठाए हैं.

इसका उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार ने राष्ट्रीय गोकुल मिशन की शुरुआत की. साथ ही ‘राष्ट्रीय कामधेनु आयोग’ स्थापित करने के लिए 500 करोड़ रुपये का आवंटन भी किया. नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘गौ माता के दूध का कर्ज इस देश के लोग नहीं चुका पाएंगे.’ इसके साथ ही उन्होंने बड़ी संख्या में गरीब बच्चों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए अक्षय पात्र फाउंडेशन को शुभकामनाएं भी दीं.

इस मौके पर उन्होंने अक्षय पात्र फाउंडेशन की तरफ से बच्चों को 300 करोड़वीं थाली भी परोसी. साल 2000 में स्थापित अक्षय पात्र फाउंडेशन सरकारी स्कूलों में चलने वाली मिड-डे मील योजना में सरकार के साथ मिलकर काम करती है. मौजूदा समय में यह संस्था 12 राज्यों के 14,702 स्कूलों में साढ़े दस लाख से ज्यादा बच्चों को भोजन उपलब्ध कराती है. इससे पहले साल 2016 में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की उपस्थिति में इस संस्था की तरफ से 200 करोड़वीं थाली खिलाई गई थी.