रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड (आरकॉम) के चेयरमैन अनिल धीरूभाई अंबानी अदालत की अवमानना के एक मामले में मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए थे. शीर्ष अदालत ने एरिक्सन इंडिया की एक याचिका पर उनके खिलाफ नोटिस जारी किया था. इसमें अनिल अंबानी पर 550 करोड़ रुपये की बकाया राशि का भुगतान नहीं करने का आरोप लगाया गया है. हालांकि मामले की सुनवाई आज नहीं हो पाई और इसे बुधवार तक के लिए टाल दिया गया है.

इस घटनाक्रम से जुड़ी एक अहम बात यह है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सुप्रीम कोर्ट के वकील कपिल सिब्बल इस मामले में अनिल अंबानी की पैरवी कर रहे हैं. यह जानकारी न्यूज18 के एक पत्रकार उत्कर्ष आनंद ने एक ट्वीट के जरिए साझा की है.

यहां गौर करने वाली बात यह है कि बीते लंबे समय से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता रफाल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेर रहे हैं और इस दौरान अनिल अंबानी भी इन सभी के निशाने पर आते रहे हैं. आनंद के इस ट्वीट से पता चलता है कि खुद कपिल सिब्बल ने आज सुबह एक ट्वीट में अनिल अंबानी का नाम लेते हुए सरकार को घेरा है. इसमें उन्होंने अनिल अंबानी की फ्रांस के रक्षा मंत्री से मुलाकात का हवाला देते हुए लिखा है, ‘ऐसा लगता है कि एयरबस, फ्रांस सरकार और अनिल अंबानी, इन सभी को पता था कि प्रधानमंत्री नौ से 11 अप्रैल के बीच अपनी फ्रांस यात्रा के दौरान एमओयू (रफाल विमान सौदे पर) पर दस्तखत करेंगे. इस सरकार के झूठ का खुलासा हो गया है.’

इस खबर के चलते सोशल मीडिया पर भी कपिल सिब्बल चर्चा में हैं और उन्हें लोगों ने अपने-अपने अंदाज में ट्रोल किया है. लिबरल्स ऑफ न्यू डेल्ही का तंजभरा ट्वीट है, ‘जब अनिल अंबानी के वकील कपिल सिब्बल ही उन पर हमला कर रहे हों तब हमें सिब्बल पर भरोसा कर लेना चाहिए.’ वहीं ईशकरण सिंह भंडारी ने लिखा है, ‘कपिल सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में पैरवी के लिए अनिल अंबानी से खूब पैसा लेते हैं और आलीशान जिंदगी जीते हैं. फिर सार्वजनिक जीवन में उन्हीं अंबानी पर हमला करते हैं और कांग्रेस से फायदा उठाते हैं...’

फिलहाल इस मामले में अपनी आलोचनाओं पर कपिल सिब्बल की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.