समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार पर ‘रोको और ठोको’ की नीति पर चलने का आरोप लगाया है. द हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक सपा अध्यक्ष का यह बयान तब आया जब मंगलवार को प्रदेश पुलिस के अधिकारियों ने उन्हें लखनऊ हवाईअड्डे पर विमान में चढ़ने से रोक दिया. अखिलेश यादव इलाहाबाद विश्वविद्यालय के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए फ्लाइट पकड़ने लखनऊ हवाईअड्डा पहुंचे थे.

पुलिस अधिकारियों द्वारा खुद को रोके जाने के बाद अखिलेश यादव ने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा. एक ट्वीट में उन्होंने लिखा है, ‘एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाईअड्डे पर रोका जा रहा है!’ इसके बाद लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा ‘योगी आदित्यनाथ सरकार की नीयत साफ नहीं है. इस कार्यक्रम के बारे में बीते दिसंबर में ही सरकार को सूचना दे दी गई थी. यदि इलाहाबाद में कुंभ मेला चल रहा है तो उसके मद्देनजर प्रशासन को अतिरिक्त व्यवस्था करनी चाहिए थी.’

अखिलेश यादव को एयरपोर्ट पर रोके जाने के बाद सपा कार्यकर्ताओं के राज्य के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन किए जाने की खबरें भी आई हैं. इस बीच बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो मायावती ने भी इस घटना की निंदा करते हुए इसे ‘तानाशाही का प्रतीक व लोकतंत्र की हत्या बताया है.’ एक ट्वीट में उन्होंने लिखा है, ‘क्या भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार बसपा-सपा गठबंधन से इतनी ज्यादा भयभीत हो गई है कि उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर तुल गई है. अति दुर्भाग्यपूर्ण. ऐसी अलोकतांत्रिक कार्रवाइयों का डटकर मुकाबला किया जाएगा.’

इस बीच खबर यह भी है कि आज के कार्यक्रम को लेकर इलाहाबाद विश्वविद्यालय की तरफ से सोमवार को ही अखिलेश यादव के पास एक सूचना भेजी गई थी. इसमें उस नियम का हवाला दिया गया था जिसके तहत विश्वविद्यालय के छात्रसंघ के कार्यक्रम में राजनेताओं को आमंत्रित नहीं किया जाता.

उधर, राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे राज्य की कानून-व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए उठाया गया कदम बताया है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि सपा अराजकता फैलाने के लिए जानी जाती है. अगर अखिलेश यादव वहां जाते तो व्यवस्था पर प्रतिकूल असर होता. इसी आशंका के चलते प्रशासन ने उन्हें वहां जाने से रोका है.