‘रफाल सौदे में नरेंद्र मोदी सरकार के लिए अनिल अंबानी ने मध्यस्थता की है.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने नरेंद्र मोदी पर एक निजी व्यक्ति (अनिल अंबानी) को लाभ पहुंचाने के लिए रक्षा क्षेत्र की गोपनीय बातें साझा करने के आरोप भी लगाए. राहुल गांधी ने आगे कहा, ‘ऐसा करके प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता किया है.’ उनके मुताबिक अगर प्रधानमंत्री समझते हैं कि इस सौदे की प्रक्रिया में कोई अनियमितता व भ्रष्टाचार नहीं है तो उन्हें इसकी जांच करानी चाहिए.

‘उत्तर प्रदेश सरकार रोको और ठोको की नीति पर चल रही है.’  

— अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष

अखिलेश यादव ने यह बात योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मुझे लखनऊ एयरपोर्ट पर बिना किसी लिखित आदेश के इलाहाबाद जाने से रोक दिया गया. मेरे सवालों का जवाब देने में भी पुलिस अधिकारी विफल रहे.’ अखिलेश यादव ने आगे कहा, ‘मुझे इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र संघ के एक कार्यक्रम में जाना था. इसकी सूचना बीते दिसंबर में ही सरकार को दे दी गई थी. इसके बावजूद मुझे रोका गया. इसका मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है.’ इससे पहले मंगलवार को प्रदेश पुलिस ने लखनऊ हवाईअड्डे पर उन्हें विमान में चढ़ने से रोक दिया था.


‘मेरी वजह से भ्रष्ट लोग परेशानी में हैं.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात हरियाणा के कुरुक्षेत्र में एक रैली को संबोधित करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उनके नेतृत्व वाली केंद्र सरकार देश को भ्रष्टचार मुक्त बनाने के लिए ‘सफाई अभियान’ को और तेज करेगी. इस मौके पर नरेंद्र मोदी ने दावा किया कि उनकी सरकार से सिर्फ ‘भ्रष्ट लोगों’ को परेशानी है जबकि ईमानदार लोगों को अपने ‘चौकीदार’ पर पूरा भरोसा है.


‘भाई की शादी नहीं हुई इसलिए अब बहन राजनीतिक मैदान में उतर आई हैं.’  

— अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष

अमित शाह ने यह बात गुजरात के गोधरा में एक कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस में प्रधानमंत्री का पद ‘जन्मजात आरक्षित’ है. उनका यह भी कहना था कि कांग्रेस में एक सामान्य कार्यकर्ता कभी शीर्ष पद पाने के बारे में सोच भी नहीं सकता. इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि भाजपा में ऐसा नहीं है. यहां पार्टी का एक मामूली कार्यकर्ता पार्टी का अध्यक्ष यहां तक कि प्रधानमंत्री भी बन सकता है.


‘सोचा नहीं था कि यह प्रतिशोध वाली सरकार इतना गिर जाएगी.’  

— रॉबर्ट वाड्रा, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति

रॉबर्ट वाड्रा ने यह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा उनसे और उनकी मां से की जा रही पूछताछ को लेकर फेसबुक की एक पोस्ट के जरिये कही. इसी पोस्ट में रॉबर्ट वाड्रा ने सवालिया लहजे में यह ​भी लिखा, ‘अगर कोई मुद्दा और गैरकानूनी बात थी तो भाजपा सरकार ने चार साल और आठ महीने का समय क्यों लिया. आखिर आम चुनाव के लिए प्रचार शुरू होने से एक महीने पहले मुझे पूछताछ के लिए बुलाया गया.’ इसके साथ ही रॉबर्ट वाड्रा ने इस पूछताछ को ‘चुनावी हथकंडा’ भी बताया.