केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से खुली लड़ाई मोल ले चुकीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मंगलवार को दिल्ली पहुंचीं. उन्हें वहां बुधवार को विपक्ष की रैली में हिस्सा लेना है. यह रैली जंतर-मंतर पर हो रही है. हालांकि इससे पहले हुए दिलचस्प घटनाक्रम में दिल्ली के कुछ स्थानों पर ममता बनर्जी के लिए होर्डिंग लगे देखे गए. इन पर लिखा है, ‘दीदी, मुस्कुराइए! आप लोकतंत्र में हैं.’

हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार इस तरह के होर्डिंग जंतर-मंतर रोड, बंग भवन, विंडसर पैलेस सर्किल आदि में ख़ास तौर पर लगाए गए हैं.’ ऐसे ही एक अन्य होर्डिंग में लिखा गया है, ‘दीदी, आपको यहां लोगों को संबोधित करने से कोई रोकने नहीं जा रहा है.’ इसमें दिलचस्पी बढ़ाने वाली बात ये भी है कि ममता बनर्जी केंद्र सरकार के कथित रवैये के ख़िलाफ़ विपक्ष की जिस रैली को संबोधित कर रही हैं, उसकी भी मुख्य विषयवस्तु ‘तानाशाही हटाओ, लोकतंत्र बचाओ’ रखी गई है.

ग़ौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में बीते दिनाें भाजपा के कई नेताओं को जनसभाएं संबोधित करने की इजाज़त नहीं दी गई थी. इन नेताओं में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शामिल हैं. योगी आदित्यनाथ और शिवराज के तो हेलीकॉप्टर उतरने की इजाज़त भी नहीं मिली. इसके बाद अगली बार आदित्यनाथ झारखंड होते हुए सड़क के रास्ते पश्चिम बंगाल पहुंचे थे.

दिल्ली के पोस्टरों को पश्चिम बंगाल की उन्हीं घटनाओं की प्रतिक्रिया माना जा रहा है. इस पृष्ठभूमि के साथ ये याद रखना भी अहम है कि ममता बनर्जी ख़ास तौर पर केंद्र की भाजपा सरकार पर लोकतंत्र और लोकतांत्रिक संस्थाओं की हत्या का आरोप लगाती हैं. इसी तरह भाजपा भी ऐसे ही आरोप पश्चिम बंगाल के संदर्भ में ममता बनर्जी और उनकी सरकार पर लगाती है. एक और बात ये कि भाजपा ने इस लोक सभा चुनाव में पश्चिम बंगाल की 22 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है.