16वीं लोकसभा की कार्यवाही के आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सदन में धन्यवाद ज्ञापित किया. इस मौके पर सदस्यों का आभार जताने के साथ उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियां तो गिनाई हीं, साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर जमकर तंज भी कसा. खबरों के मुताबिक नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘16वीं लोकसभा के पांच साल शांति से गुजर गए और कोई भूचाल नहीं आया.’ गौरतलब है कि राहुल गांधी ने अपने एक भाषण में कहा था कि अगर वे सरकार के खिलाफ बोलना शुरू करेंगे तो भूचाल आ जाएगा और प्रधानमंत्री उनसे आंख नहीं मिला पाएंगे.

प्रधानमंत्री ने राहुल गांधी द्वारा संसद में ‘आंख मारने’ की घटना को लेकर भी चुटकी ली. उन्होंने कहा, ‘संसद में पहली बार आंखों की गु​स्ताखियां देखने को मिलीं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘संसदीय सत्र के दौरान मुझे गले लगने और गले पड़ने के बीच का फर्क भी समझ में आ गया.’ बीते साल कांग्रेस ने मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाई थी. उस मौके पर अपना भाषण देने के बाद राहुल गांधी प्रधानमंत्री के आसान के पास जाकर उनके गले लगे थे. साथ ही वहां से अपनी सीट पर लौटने पर उन्होंने अपनी ही पार्टी के एक नेता को आंख मारी थी.

इसके साथ ही अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए प्रधानमंत्री ने यह भी कहा, ‘आज भारत एक तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है. दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं में यह छठवें पायदान पर पहुंच गया है. आज दुनिया के तमाम शक्तिशाली देश भारत की बातों को गंभीरता से सुनते हैं.’ नोटबंदी की चर्चा करते हुए उन्होंने इसे कालेधन पर लगाम लगाने वाला बताया. साथ ही वस्तु एवं सेवाकर के जरिये करदाताओं की संख्या को बढ़ाने वाला कहा.

उन्होंने आगे कहा, ‘16वीं लोकसभा ने अपने सदस्यों की वेतनवृद्धि को लेकर कोई प्रस्ताव नहीं पेश किया.’ साथ ही उन्होंने इस लोकसभा की सबसे बड़ी विशेषता सदन में महिलाओं की संख्या को बताया. उन्होंने कहा, ‘आज देश में 44 महिला सांसद हैं. निश्चय ही भविष्य में यह संख्या और बढ़ेगी.’