जम्मू-कश्मीर में गुरुवार को एक बड़े आतंकी हमले में सीआरपीएफ के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए. यह आत्मघाती हमला पुलवामा में हुआ. हमलावर ने सीआरपीएफ के एक काफिले को विस्फोटकों से लदी एक कार के जरिये निशाना बनाया. मारे गए जवान सीआरपीएफ की 76वीं बटालियन के हैं. हमले में दो दर्जन से ज्यादा जवान घायल भी हुए हैं. इनमें से कइयों की हालत गंभीर बताई जा रही है. इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है.

जम्मू-कश्मीर में यह अब तक का सबसे बड़ा आतंकी हमला है. इससे पहले 2016 में उड़ी स्थित एक सैन्य कैंप पर हुए आतंकी हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे. 2001 में राज्य विधानसभा के बाहर हुए एक हमले में 38 लोगों की मौत हुई थी.

उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हमले को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से बात की है. गृह मंत्री राजनाथ सिंह हालात का जायजा लेने के लिए कल श्रीनगर जा रहे हैं. एनआईए की एक टीम भी जांच के लिए कल ही वहां पहुंचेगी.