तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने कहा है कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट का रुख करने का फैसला किया है. स्क्रोल डॉट इन के मुताबिक टीडीपी प्रमुख ने यह बात गुरुवार को पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ टेलीकॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कही. उन्होंने आगे कहा, ‘यह फैसला बुधवार को 15 विपक्षी दलों की एक बैठक में किया गया था. यह बैठक कल नई दिल्ली में विपक्षी दलों की रैली के बाद एनसीपी नेता शरद पवार के घर पर हुई थी.’

चंद्रबाबू नायडू ने आगे कहा, ‘नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार से देशभर के लोग खफा हैं. आगामी आज चुनाव में अगर दोबारा किसी अयोग्य व्यक्ति को सत्ता मिली तो इससे लोकतंत्र खतरे में पड़ेगा.’ उनके मुताबिक विपक्षी दलों के बीच एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाने के लिए भी सहमति बनी है. इसे चुनाव से पहले ही तैयार कर लिया जाएगा.

इधर, बीते दो सालों से विपक्षी दल अनेक मौकों पर ईवीएम से छेड़छाड़ और उसे हैक करने संबंधी आरोप लगाते आए हैं. इसे लेकर बीते महीने कांग्रेस सहित कई अन्य दलों ने आगामी आम चुनाव ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर (मतपत्रों) से कराए जाने को लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से मुलाकात भी की थी. तब उस मांग को ठुकराते हुए सुनील अरोड़ा ने दावा किया था कि ईवीएम से छेड़छाड़ संभव नहीं है. इसके साथ ही बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाने को उन्होंने पुराने युग में लौटने जैसा भी बताया था.