सुप्रीम कोर्ट ने एरिक्सन इंडिया के 550 करोड़ रुपये के बकाये से जुड़े मामले में रिलायंस समूह के प्रमुख अनिल अंबानी को जोरदार झटका दिया है. उसने अंबानी और समूह को दो डायरेक्टरों को अवमाना का दोषी करार देते हुए कहा है कि या तो वे एरिक्सन का 453 करोड़ रुपये का बकाया दें या जेल जाएं.

खबरों के मुताबिक शीर्ष अदालत ने अनिल अंबानी और रिलायंस ग्रुप के दो डायरेक्टरों को आदेश दिया है कि वे चार सप्ताह के अंदर एरिक्सन को 453 करोड़ रुपये का भुगतान करें. इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि अगर तय समयसीमा के अंदर भुगतान नहीं किया जाता, तो तीनों को तीन-तीन महीने के कारावास की सजा होगी.

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने आदेश की अवहेलना के लिए तीनों पर एक-एक करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगा दिया. खबरों के मुताबिक अगर एक महीने में जुर्माने की रकम नहीं जमा करवाई गई तो उन्हें एक महीना जेल में गुजारना होगा. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अनिल अंबानी के अलावा जिन दो डायरेक्टरों के खिलाफ फैसला सुनाया है, उनके नाम सतीश सेठ और छाया विरानी हैं. सतीश रिलायंस टेलिकॉम के चेयरमैन हैं और छाया विरानी रिलायंस इन्फ्राटेल की चेयरमैन हैं.