देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति-सुज़ुकी की सबकॉम्पैक एसयूवी ‘ब्रेज़ा’ ने बिक्री के मामले में नया कीर्तिमान स्थापित किया है. कंपनी ने बयान जारी कर जानकारी दी है कि इस हफ़्ते ब्रेज़ा ने चार लाख से ज्यादा यूनिट की बिक्री का आंकड़ा पार कर लिया है. ब्रेज़ा ने यह उपलब्धि लॉन्च होने के तीन साल से भी कम समय में हासिल की है. मारुति-सुज़ुकी ने ब्रेज़ा को मार्च-2016 में बाज़ार में उतारा था. इसके बाद से ही यह कार सेगमेंट में लगातार कमाल करती रही है.

ग्राहकों के बीच ब्रेज़ा की लोकप्रियता का ज़िक्र करते हुए मारुति-सुज़ुकी ने जानकारी दी है कि चालू वित्‍त वर्ष में ब्रेज़ा की बिक्री सात प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ 14,675 यूनिट मासिक औसत बिक्री पर पहुंच गई है. ब्रेज़ा की यह उपलब्धि इसलिए महत्वपूर्ण मानी जा रही है क्योंकि यह वित्त वर्ष घरेलू ऑटो सेक्टर के लिए खासे उतार-चढ़ाव वाला रहा है. मारुति-सुज़ुकी ने यह दावा भी किया है कि सेगमेंट में 44.1 प्रतिशत हिस्से को अकेले ब्रेज़ा घेरे हुए है. मिली जानकारी के अनुसार ब्रेज़ा की कुल बिक्री में कार के ऑटोमेटिक गियर शिफ्ट (एजीएस) वर्ज़न की हिस्‍सेदारी 20 प्रतिशत है. कंपनी ने ब्रेज़ा के ऑटोमेटिक वर्ज़न को मई-2018 में लॉन्‍च किया था.

ब्रेज़ा खरीदने का मन बना रहे ग्राहकों के लिए एक ख़बर यह भी है कि जल्द ही उन्हें अपनी यह मनपसंद कार मारुति-सुज़ुकी ही नहीं बल्कि टोयोटा ब्रांड के तहत भी मिल पाएगी. दरअसल पिछले साल मई में ही सुज़ुकी और टोयोटा के बीच एक-दूसरे की प्रमुख गाड़ियों की तय यूनिट बेचने का क़रार हुआ था. एक प्रमुख ऑटो वेबसाइट के मुताबिक- टोयोटा सुज़ुकी की कारों को अपने प्लांट में बनाकर उन्हें अपने ही नेटवर्क पर बेचेगी. यह साझेदारी दोनों तरफ से हुई है. एक तरफ जहां मारुति-सुज़ुकी के प्लांट में क्षमता से ऊपर विनिर्माण कार्य चल रहे हैं तो वहीं टोयोटा की इटियोस, लिवा और यारिस जैसी गाड़ियां बनाने वाली 2.10 लाख की क्षमता की लाइन का महज 30 फीसदी भाग ही इस्तेमाल हो पा रहा है. ऐसे में टोयोटा भी अपनी लाइन का बेहतर इस्तेमाल कर पाएगी और मारुति-सुज़ुकी का दबाव कम होगा.

जानकारी के मुताबिक टोयोटा भी ब्रेज़ा के डीज़ल तथा पेट्रोल, दोनों ही वर्जन लॉन्च करेगी. हालांकि टोयोटा इस गाड़ी के फीचर्स से लेकर लुक्स तक अहम बदलाव कर सकती है.

फोर्ड एंडेवर का फेसलिफ्ट वर्ज़न

अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी फोर्ड ने भारत में अपनी लोकप्रिय एसयूवी ‘एंडेवर’ का फेसलिफ्ट वर्ज़न बाज़ार में उतार दिया है. एंडेवर-2019 में फोर्ड ने कई अहम कॉस्मेटिक बदलाव किए हैं. इनमें शानदार डिज़ायन वाली नई फ्रंट ग्रिल व फॉग लैंप्स, ट्वीक्ड फ्रंट बंपर और नई स्टाइल का रियर बंपर प्रमुख हैं. साथ ही नए डिज़ायन के 18 इंच के अलॉय व्हील भी इस गाड़ी की शान को बढ़ाते हैं. नई एंडेवर में फोर्ड ने इसके मौजूदा मॉडल की तरह डे-टाइम रनिंग लैंप्स के साथ एलईडी हैडलैंप्स को बरकरार रखा है.

यदि एंडेवर-2019 के कुछ अन्य बड़े बदलावों की बात करें तो वे आपको इसके केबिन के अंदर नज़र आते हैं. यहां फोर्ड ने नई डुअल टोन ब्लैक बेज अपहोल्सट्री दी है जो कि मौजूदा कार की ब्राउन बेज कलर स्कीम से बदली गई है. इस कार में नए फीचर्स के नाम पर की-लैस एंट्री, पडल लैंप्स और स्मार्ट बूट ओपनिंग सिस्टम स्टैंडर्ड तौर पर दिया गया है. फोर्ड की इस नई पेशकश में एंड्रॉइड ऑटो और एपल कार प्ले के साथ सिंक-3 टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम भी मिलते हैं.

इसके अलावा कंपनी ने एंडेवर के वेरिएंट लाइन अप में बड़ा बदलाव करते हुए इस कार के बेस वेरिएंट को बंद कर दिया है. अब से इस गाड़ी के सिर्फ टाइटेनियम और टाइटेनियम+ वेरिएंट ही बाज़ार में देखने को मिलेंगे. परफॉर्मेंस के मामले में फोर्ड ने इस कार में अपने मौजूदा- 2.2 लीटर क्षमता का चार सिलेंडर वाला पेट्रोल और 3.2 लीटर क्षमता का चार सिलेंडर वाला डीज़ल इंजन दिया है. इनमें से पेट्रोल इंजन सिर्फ मैनुअल गियरबॉक्स ऑल व्हील ड्राइव सिस्टम के साथ जुड़ा होगा. वहीं इस गाड़ी के डीज़ल इंजन को छह-स्पीड ऑटोमैटिक गियर बॉक्स के साथ 4X4 ड्राइव सिस्टम के साथ जोड़ा जाएगा. बाज़ार में इस कार का मुकाबला भी अपने मौजूदा मॉडल की तरह टोयोटा फॉर्च्यूनर, मित्सुबिशी पजेरो और महिंद्रा अल्तुरस से होना वाला है.

फोर्ड ने अपनी इस शानदार गाड़ी के लिए 28.19 लाख रुपए की शुरुआती (एक्सशोरूम) कीमत तय की है जो इसके टॉप एंड वेरिएंट के लिए 32.97 लाख रुपए तक जाती है. हालांकि कार के मौजूदा स्टॉक को खाली करने के लिए इसके प्री-फेसलिफ्ट मॉडल पर 1.50 लाख रुपए का बड़ा डिस्काउंट मिल रहा है. लेकिन इस सेगमेंट की कार खरीदने वाले ग्राहकों को शायद ही इस बात से कोई फर्क़ पड़ेगा!

बेनेली की दो नई बाइकें

इटली की दो-पहिया वाहन निर्माता कंपनी बेनेली ने अपनी बिल्कुल दो नई जुड़वा एडवेंचर टुअर बाइक- टीआरके 502 और टीआरके 502एक्स भारत में लॉन्च कर दी हैं. बेनेली ने टीआरके 502 को सबसे पहले ऑटो एक्सपो 2016 में शोकेस किया था. तभी से देश के बाज़ार में इस बाइक का इंतजार किया जा रहा था. इनमें से जहां टीआरके 502 रोड बेस्ड मॉडल है, वहीं टीआरके 502एक्स हार्डकोर ऑफ रोड वर्ज़न है. कंपनी ने इन बाइकों को तीन रंगों- रैड, व्हाइट और ग्रेफाइट ग्रे कलर्स में उपलब्ध करवाया है.

इन बाइकों की प्रमुख खूबियों की बात करें तो बेनेली ने इन बाइकों के अगले हिस्से में यूएसडी फोर्क्स और पिछले हिस्से में मोनोशॉक सस्पेंशन सेटअप दिया है. वहीं बाइक के डुअल हैडलैंप सैटअप के साथ एलईडी इंडिकेटर्स और टेललाइट दिए गए हैं. सुरक्षा के मामले में भी ये सुपर बाइकें किसी से कमतर नज़र नहीं आती. टीआरके 502 और टीआरके 502एक्स के अगले व्हील में 320 एमएम का डुअल डिस्क ब्रेक और पिछले व्हील में 260 एमएम का डिस्क दिया है जो डुअल-चैनल एबीएस से लैस होने के साथ स्विचेबल भी है. इन दोनों ही बाइकों के फ्यूल टैंक की क्षमता 20 लीटर है.

बेनेली ने टीआरके 502 और टीआरके 502एक्स, दोनों ही बाइकों में एक ही इंजन इस्तेमाल किया है. 500सीसी क्षमता का यह पैरेलल-ट्विन लिक्विड कूल्ड इंजन 8500 आरपीएम पर 47 बीएचपी की पॉवर और 6000 आरपीएम पर अधिकतम 46 एनएम का टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. यह इंजन 6-स्पीड गियरबॉक्स और हाइड्रोलिक एक्युएटेड क्लच के साथ जोड़ा गया है.

बेनेली ने टीआरके 502 की शुरुआती एक्सशोरूम कीमत 5 लाख रुपए रखी है, जो कि टीआरके 502एक्स के लिए 5.40 लाख रुपए तक जाती है. यदि आप इन दोनों बाइकों को घर लाना चाहते हैं तो दस हज़ार रुपए टोकन मनी देकर इन्हें बुक भी किया जा सकता है. कंपनी का कहना है कि बुक की हुई बाइकों की डिलिवरी अगले दो महीनों में शुरु कर दी जाएगी. भारत में इन बाइकों का मुकाबला कावासाकी वर्सेस 650, सुज़ुकी वी-स्टॉर्म एक्सटी, एसडब्ल्यूएम सुपरडुअल टी और कावासाकी वर्सेस एक्स-300, बीएमडब्ल्यू जी 310-जीएस और रॉयल एनफील्ड हिमालयन जैसी बाइक्स से होने वाला है.