रिलायंस जियो को टक्कर देने के लिए एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया ऑप्टिकल फाइबर सेक्टर में साथ आ सकती हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल ने मंगलवार को वोडाफोन-आइडिया को इस क्षेत्र में साझेदारी के लिए ‘आमंत्रित’ किया. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि एयरटेल, फ्लिपकार्ट और अमेजन जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों के साथ भी जुड़ने के लिए तैयार है. वहीं, उन्होंने 5जी की नीलामी में भाग लेने की बात को खारिज कर दिया.

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक सुनील मित्तल ने कहा कि उन्होंने अपनी फाइबर कंपनी टेलीसॉनिक में साझेदारी के लिए वोडाफोन-आइडिया को आमंत्रित किया है. मित्तल ने कहा कि दोनों कंपनियां अपनी संपत्तियों को साझा कर सकती हैं. इस बारे में वोडाफोन-आइडिया की प्रतिक्रिया को लेकर सवाल किया गया तो एयरटेल चेयरमैन ने कहा, ‘प्रतिक्रिया सकारात्मक थी.’

रिपोर्ट के मुताबिक वोडाफोन-आइडिया के साथ साझेदारी करने से एयरटेल को फाइबर नेटवर्क के विस्तार में आने वाली लागत में कटौती करने में मदद मिलेगी. सुनील मित्तल के मुताबिक इस कदम से दोनों कंपनियों को फायदे मिलेंगे. उन्होंने कहा, ‘उनके (वोडाफोन-आइडिया) और हमारे पास काफी ज्यादा फाइबर है... दोनों के साथ आने से इस क्षमता में 25 फीसदी की वृद्धि होगी और (नेटवर्क विस्तार के लिए) नए रूट बनेंगे जो अभी हमारे पास नहीं हैं. इस तरह फिजूलखर्ची भी रुकेगी.’

सुनील मित्तल के इस बयान से पहले वोडाफोन समूह के सीईओ निक रीड्स ने कहा था कि टेलीकॉम कंपनियों को साथ मिल कर काम करने और अपने नेटवर्क साझा करने की जरूरत है. उन्होंने कहा था कि बेहतर नेटवर्क कवरेज और लागत के सही उपयोग के लिए ऐसा किया जाना चाहिए.