पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के उनके देश में मौजूद होने की बात कबूल कर ली है. लेकिन उनका कहना है कि भारत द्वारा ‘ठोस तथा अकाट्य’ प्रमाण देने (जो कि अदालत में पेश किए जा सकें) पर ही उनकी सरकार मसूद अजहर के खिलाफ कोई कदम उठा सकती है.

पीटीआई के मुताबिक कुरैशी ने मसूद अजहर को लेकर सीएनएन से बातचीत में कहा, ‘मुझे मिली जानकारी के मुताबिक वह पाकिस्तान में ही है. वह इस हद तक बीमार है कि घर से बाहर भी नहीं निकल सकता. वह काफी बीमार है.’ पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने आगे कहा, ‘अगर उनके (भारत) पास ठोस, अकाट्य प्रमाण हैं जो कि अदालत में पेश किए जा सकें, तो उन्हें हमसे साझा करें ताकि हम लोगों को विश्वास दिला सकें और पाकिस्तान की स्वतंत्र न्यायपालिका को विश्वास दिला सकें. हमें कानूनी प्रक्रिया पूरी करनी होगी.’

वहीं, भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को सौंपने के कदम को कुरैशी ने ‘शांति की पहल’ बताया. उन्होंने कहा कि इसे पाकिस्तान की ‘तनाव कम करने की इच्छा’ के तौर पर देखा जाना चाहिए.