भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने ‘स्विफ्ट’ से जुड़े नियमों तथा अन्य निर्देशों का अनुपालन नहीं करने पर पांच बैंकों के खिलाफ कार्रवाई की है. इस कार्रवाई के तहत इन बैंकों पर कुल 10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. आरबीआई ने यह कार्रवाई बैंक ऑफ बड़ौदा, आईसीआईसीआई बैंक, इलाहाबाद बैंक, यस बैंक और केनरा बैंक पर की है.

पीटीआई के मुताबिक बैंक ऑफ बड़ौदा, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक और केनरा बैंक पर स्विफ्ट विनियमों का पालन नहीं करने के लिए जुर्माना लगाया है. इसमें बैंक ऑफ बड़ौदा पर चार करोड़ रुपये, केनरा बैंक पर दो करोड़ रुपये और आईसीआईसीआई बैंक एवं यस बैंक पर एक-एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

इसके अलावा इलाहाबाद बैंक पर दो करोड़ रुपये का जुर्माना नास्त्रो खातों से जुड़े दिशानिर्देशों का अनुपालन नहीं करने पर लगाया गया है. नास्त्रो खाता, किसी एक बैंक द्वारा विदेशी मुद्रा में किसी दूसरे बैंक में खोला जाने वाला खाता है.

बीते साल पंजाब नेशनल बैंक में सामने आई 14,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी इसी स्विफ्ट व्यवस्था के गलत इस्तेमाल से की गई थी. इसके बाद केंद्रीय बैंक ने इस प्रौद्योगिकी को लेकर कड़े दिशानिर्देश जारी किये हैं.

केंद्रीय बैंक ने सोमवार को भी स्विफ्ट नियमों के अनुपालन में कोताही को लेकर छह सरकारी एवं निजी क्षेत्र के बैंकों पर कुल 17 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था.