‘पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई भारत पर आतंकी हमलों के लिए जैश-ए-मोहम्मद का इस्तेमाल करती है.’  

— परवेज मुशर्रफ, पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति

परवेज मुशर्रफ ने यह बात एक इंटरव्यू के दौरान कही. इसी इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि यह जानकारी होने के बावजूद उन्होंने पाकिस्तान का राष्ट्रपति रहते हुए जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की, तो उन्होंने कहा, ‘वह समय अलग था.’ इसके साथ ही मुशर्रफ का यह भी कहना था, ‘पाकिस्तान के मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान ने जेईएम के खिलाफ कार्रवाई का साहस दिखाया है. इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं.’ परवेज मुशर्रफ के मुताबिक, ‘दिसंबर 2003 में जेईएम ने उन्हें भी मारने की कोशिश की थी.’

‘पठानकोट हमले के बाद नवाज शरीफ को गले लगाने वाले प्रधानमंत्री पाकिस्तान के पोस्टर बॉय हैं.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक बयान पर पलटवार करते हुए आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पठानकोट हमले के बाद आईएसआई को जांच के लिए भारत बुलाया. वे वहां के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के यहां शादी में गए. नवाज शरीफ को अपने शपथ ग्रहण समारोह में भी आमंत्रित किया.’ राहुल गांधी ने आगे कहा, ‘इतना सब ड्रामा करने वाले प्रधानमंत्री आज कांग्रेस के नेताओं को ‘पोस्टर बॉय’ बता रहे हैं.’ इससे पहले मोदी ने बालाकोट हमले के कथित सबूत मांगने वाले कांग्रेस के नेताओं को पाकिस्तान का ‘पोस्टर बॉय’ बताया था.


‘भारतीय संघ और जम्मू-कश्मीर के बीच के रिश्तों को नरेंद्र मोदी सरकार कमजोर कर रही है.’  

— उमर अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री

उमर अब्दुल्ला ने यह बात जम्मू-कश्मीर में एक कार्यक्रम के दौरान कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘जब ऐसे सवाल पैदा होते हैं तो उनके जवाब देना मेरा नहीं बल्कि प्रधानमंत्री और उनके सहयोगियों का काम है.’ इसके साथ ही लखनऊ में दो कश्मीरियों पर हुए हमले को लेकर भी उन्होंने सरकार पर निशाना साधा. सवालिया लहजे में उन्होंने कहा, ‘भारत का संविधान अपने नागरिकों को समान सुरक्षा का अधिकार देता है. लेकिन जब कश्मीरियों को सुरक्षा ही नहीं मिल रही तो मैं किस संविधान और किस तिरंगे की बात करूं.’


‘हमारी लड़ाई अलगाववादियों और आतंकवादियों के खिलाफ है.’  

— अरुण जेटली, केंद्रीय वित्त मंत्री

अरुण जेटली का यह बयान लखनऊ में दो कश्मीरियों पर हुए हमले को लेकर आया है. इसके साथ ही गुरुवार को हुई इस घटना की निंदा करते हुए अरुण जेटली ने यह भी कहा, ‘जम्मू-कश्मीर के लोगों की हमें जरूरत है. आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में वहां के लोग हमारे साथ हैं.’


‘सुरक्षा की अंतिम गारंटी चौकीदार नहीं थानेदार देता है, अब थानेदार ही चौकीदार को सजा देगा.’  

— तेजस्वी यादव, राष्ट्रीय जनता दल के नेता

तेजस्वी यादव ने यह बात एक ट्वीट के जरिये रफाल विमान सौदे को लेकर नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कही है. इसी ट्वीट के जरिये उन्होंने यह भी कहा, ‘चौकीदार (प्रधानमंत्री) ने चोरी की है इसलिए अब थानेदार (जनता) उन्हें सजा देगा.’ तेजस्वी यादव ने आगे कहा, ‘स्टंटमैन (नरेंद्र मोदी) रफाल तो उड़वा नहीं सके, इसलिए उन्होंने रफाल से जुड़ी फाइलें ही उड़वा दीं.’