भारत और पाकिस्तान के दरम्यान तनाव के बीच चीन ने दोनों देशों से अपील की है कि वे इस ‘संकट’ को ‘अवसर’ में बदलें. पीटीआई के मुताबिक चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने देश की राजधानी बीजिंग में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यह बात कही है. इसके साथ उन्होंने कहा है कि चीन उम्मीद करता है कि उसके ये दोनों पड़ोसी देश अपने टकराव को बातचीत में तब्दील करेंगे.

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक वान ने यह भी कहा है, ‘हमने शुरुआत से ही दोनों देशों द्वारा संयम बरतने पर जोर दिया है. हम दोनों देशों को सलाह देते हैं कि वे ताजा हालात से जल्दी बाहर निकलें और अपने संबंधों में सुधार के लिए बुनियादी और दीर्घकालिक उपायों पर काम करें.’ इसके साथ ही वांग ने इस बात की पुष्टि भी की है कि भारत और पाकिस्तान के बीच उपजे हालिया तनाव को कम करने में चीन ने मध्यस्थता की थी.

इससे पहले गुरुवार चीन ने भारत के साथ तनाव के दौरान पाकिस्तान द्वारा ‘शांत रहने और संयम बरतने’ पर उसकी तारीफ की थी. वहीं बुधवार को चीन के उप-विदेश मंत्री कॉन्ग शुआनयूने इस्लामाबाद की यात्रा की थी. इस दौरान उनकी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से मुलाकात की थी. शुआनयू की इस यात्रा पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग का भी कहना था कि इसका मकसद भारत और पाकिस्तान दोनों से जुड़े हालात को लेकर पाकिस्तान से संपर्क करना था.