तेलंगाना में कांग्रेस पार्टी को एक और झटका लगा है. ख़बरों के मुताबिक विधायक बी हरिप्रिया ने कांग्रेस से इस्तीफ़ा देने की घोषणा की है. साथ ही यह भी बताया है कि वे सत्ताधारी टीआरएस (तेलंगाना राष्ट्र समिति) में शामिल हो रही हैं. बीते साल दिसंबर में हुए राज्य विधानसभा चुनाव में बी हरिप्रिया येल्लांदु सीट से चुनी गई थीं. इसी महीने कांग्रेस पार्टी छोड़ने वाली बी हरिप्रिया तेलंगाना की चौथी विधायक हैं.

हरिप्रिया ने कहा कि वे अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास को ध्यान में रखकर टीआरएस में शामिल हो रही हैं. उन्होंने यह भी कहा कि ज़रूरत पड़ी तो विधानसभा की सदस्यता से भी इस्तीफ़ा देंगी. और टीआरएस उम्मीदवार के तौर पर फिर से चुनाव में उतरेंगी. हरिप्रिया के इस्तीफ़े के बाद 119 सदस्यों वाली राज्य विधानसभा में कांग्रेस के 15 सदस्य रह गए हैं. इससे एक दिन पहले नकरेकल के विधायक सी लिंगैया ने कांग्रेस छोड़कर टीआरएस में शामिल होने का ऐलान किया था. जबकि दो मार्च को अनुसूचित जनजाति के दो विधायक- आर कांताराव और अतराम सक्कू भी कांग्रेस छाेड़कर टीआरएस में शामिल हो चुके हैं.

बताया जाता है कि कांग्रेस की एक और कद्दावर नेता सविता इंद्रा रेड्‌डी भी पार्टी छोड़ने का मन बना चुकी हैं. उनके पुत्र पी कार्तिक रेड्‌डी को पार्टी ने चेवेल्ला से लोक सभा उम्मीदवार बनाने से मना कर दिया है. इसके बाद उन्होंने इसी रविवार को टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष केटी रामाराव से मुलाकात की है. उनके सामने सविता ने ख़ुद उन्हें या बेटे को चेवेल्ला से टीआरएस का लोक सभा टिकट दिए जाने की शर्त रखी है. कहा जा रहा है कि टीआरएस ने उनकी यह शर्त मानने के संकेत दिए हैं. सविता इंद्रा रेड्‌डी संयुक्त आंध्र प्रदेश की वाईएस राजशेखर रेड्‌डी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार में गृह मंत्री रह चुकी हैं.