आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस ने मुसलमानों के पाक (पवित्र) महीने में लोकसभा चुनाव कराए जाने को लेकर चुनाव आयोग को निशाने पर लिया है. इनकी आशंका है कि रमजान के दौरान चुनाव कराने की वजह से मुस्लिम मतदाता कम संख्या में वोट डालने बूथों पर पहुंचेंगे. इस खबर को आज अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. हालांकि, हैदराबाद से सांसद और एआईएमआईएम पार्टी के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि इस पर बेवजह का विवाद खड़ा किया जा रहा है. उनकी मानें तो रमजान महीने में मुसलमान मतदाता वोट डालने के लिए बाहर निकलेंगे. दूसरी ओर, चुनाव आयोग ने भी इस विवाद पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. उसका कहना है कि चुनाव को पूरे एक महीने के लिए नहीं टाला जा सकता है. साथ ही, किसी शुक्रवार को मतदान की तारीख तय नहीं की गई है.

महिला सुरक्षा के लिहाज से खराब राज्यों में सबसे अधिक बार ‘नारी शक्ति’ शब्द की खोज

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी ने ‘नारी शक्ति’ को साल 2018 का हिंदी का शब्द चुना है. इसे जनवरी में शब्दकोश में शामिल कर लिया गया है. इसमें सबसे अधिक योगदान उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और मध्य प्रदेश का रहा है. इन राज्यों में इंटरनेट उपभोक्ताओं ने सर्च इंजन गूगल पर सबसे अधिक ‘नारी शक्ति’ की खोज की. हालांकि, दैनिक भास्कर ने एनसीआरबी की रिपोर्ट के हवाले से कहा है कि महिलाओं से जुड़े अपराध के सबसे अधिक मामले भी इन्हीं राज्यों में दर्ज किए गए हैं. बताया जाता है कि इंटरनेट नारी शक्ति पर सबसे अधिक कविताएं खोजी गई हैं. यह बात भी सामने आई है कि महिला दिवस के मौके पर इस शब्द की सबसे अधिक खोज की गई है.

लोकसभा चुनाव : एनआरसी ड्राफ्ट से बाहर मतदाताओं को वोट देने का अधिकार

असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के फाइनल ड्राफ्ट से बाहर लोगों के लोकसभा में मतदान को लेकर स्थिति साफ हो गई है. द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी मुकेश साहू ने बताया कि जिनका नाम मतदाता सूची में है वे सभी अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे पहले इनके मताधिकार को लेकर संशय की स्थिति थी. बीते साल करीब 40 लाख लोगों के नाम एनआरसी ड्राफ्ट में नहीं थे. बता दें कि असम की 14 सीटों के लिए तीन चरणों- 11 अप्रैल, 18 अप्रैल और 23 अप्रैल को चुनाव होना है. राज्य में कुल मतदाताओं की संख्या 2.17 करोड़ से अधिक है.

कांग्रेस ने सपा परिवार के खिलाफ उम्मीदवार न उतारने का फैसला किया

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने सपा परिवार के सदस्यों के खिलाफ लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार न उतारने का फैसला किया है. अमर उजाला की खबर के मुताबिक इस फैसले के तहत पार्टी पांच सीटों पर अपनी उम्मीदवारी छोड़ सकती है. साथ ही, माना जा रहा है कि शिवपाल यादव के चुनाव लड़ने की स्थिति में उनके लिए भी ऐसा किया जा सकता है. वहीं, यदि बसपा प्रमुख मायावती इस चुनावी दंगल में उतरती हैं तो कांग्रेस उनके साथ भी दोस्ताना रुख अपना सकती है. दूसरी ओर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सक्रिय राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) को भी उम्मीद है कि कांग्रेस उसके साथ भी यह उदारता दिखा सकती है. इससे पहले बसपा और सपा ने कांग्रेस के दो परंपरागत सीटों-अमेठी और रायबरेली में अपने-अपने उम्मीदवार न उतारने की बात कही है.

दिल्ली : 50 लाख रु के मकान के लिए बेटी ने माता-पिता की हत्या की

दिल्ली के पश्चिम विहार इलाके में एक युवती ने प्रेमी के साथ मिलकर अपने माता-पिता की हत्या कर दी. हिन्दुस्तान में छपी खबर के मुताबिक आरोपितों ने मृतकों के 50 लाख रुपये के मकान को हथियाने के लिए इस अपराध को अंजाम दिया. बीती आठ मार्च को जागीर कौर (47 साल) और गुरमीत (52 साल) के शवों को ब्रीफकेस में एक नाले से बरामद किया गया था. इससे पहले आरोपित देविंदर कौर ने खुद अपने माता-पिता की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. बाद में पूछताछ के दौरान उसने इससे जुड़े सभी राज पुलिस के सामने उगल दिए. साथ ही, कॉल डिटेल से पुलिस को उसके प्रेमी- प्रिंस दीक्षित के इसमें शामिल होने का खुलासा हुआ. दोनों आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

काला हिरण शिकार मामले में सैफ अली खान सहित अन्य पांच के खिलाफ नोटिस जारी

राजस्थान के चर्चित काला हिरण शिकार मामले में हाई कोर्ट ने आरोपितों को नोटिस जारी किया है. इन आरोपितों में अभिनेता सैफ अली खान के साथ सोनाली बेंद्रे, नीलम कोठारी, तब्बू और दुष्यंत सिंह (सलमान खान का सहायक) हैं. नवभारत टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक राज्य सरकार की याचिका के आधार पर जोधपुर हाई कोर्ट ने इनके खिलाफ नोटिस जारी किया है. सरकार ने निचली अदालत द्वारा इन सभी आरोपितों को बरी किए जाने के फैसले को चुनौती दी है. इससे पहले बीते साल हाई कोर्ट ने इस मामले में सलमान खान को दोषी पाया था. इसके लिए दोषी अभिनेता को पांच साल की सजा सुनाई जा चुकी है. बताया जाता है कि दो दिन जेल में गुजारने के बाद उन्हें 50,000 रुपये के मुचलके पर जमानत मिल गई थी.