प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार भी उत्तर प्रदेश के वाराणसी से लोक सभा चुनाव लड़ सकते हैं. उन्होंने 2014 में वाराणसी और वड़ोदरा से चुनाव लड़ा था. बाद में वड़ोदरा सीट छोड़ दी थी.

ख़बरों के मुताबिक अटकलें ये भी हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार ओडिशा की पुरी लोक सभा सीट से प्रत्याशी हो सकते हैं. हालांकि इस बाबत जब ख़ुद उनसे पूछा गया तो उनका ज़वाब था, ‘थोड़ी मेहनत पत्रकारों को भी करनी चाहिए.’ समाचार एजेंसी एएनआई को दिए साक्षात्कार में उन्होंने यह बात कही थी. अलबत्ता सूत्रों के हवाले से यह बात सामने आई है कि पार्टी संसदीय दल के कई नेता चाहते हैं कि प्रधानमंत्री को वाराणसी सीट से ही चुनाव लड़ना चाहिए.

फिर भी पुरी सीट पर उनके चुनाव लड़ने की ख़बरें इसलिए चल रही हैं क्याेंकि इस बार भाजपा ओडिशा और उसके नज़दीकी बंगाल तथा आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों में अपनी सीटें बढ़ाने के लिए काफ़ी ज़ाेर लगा रही है. ऐसे में अगर प्रधानमंत्री पुरी से भी चुनाव लड़ते हैं तो पार्टी को इन सभी राज्यों में मदद मिलेगी. हालांकि इस सीट से एक अन्य नाम भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा का भी चल रहा है. ख़बरों की मानें तो प्रत्याशियों के नाम तय करने के लिए भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की इसी सप्ताह बैठक होने वाली है.