आगामी आम चुनाव के मद्देनजर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने पश्चिम बंगाल की सभी 42 संसदीय सीटों के उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए हैं. मंगलवार को यह घोषणा टीएमसी की मुखिया और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने की. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी ने छह निवर्तमान सांसदों के टिकट काटने का फैसला किया है. इन सांसदों को चुनाव के बजाय पार्टी संगठन को मजबूत करने के काम में लगाया जाएगा.

ममता बनर्जी ने यह भी कहा है कि इस आम चुनाव के लिए उनकी पार्टी ने 41 फीसदी महिलाओं को ​अपना उम्मीदवार बनाया है और इस तरह 17 सीटों पर महिलाओं को टिकट दिया है. इधर, टीएमसी की इस सूची में कुछ चौंकाने वाली बातें भी दिखी हैं. मसलन ममता बनर्जी के करीबी नेताओं में से एक कहे जाने वाले सुब्रत बक्शी को पार्टी ने इस बार दक्षिण कोलकाता संसदीय सीट से प्रत्याशी नहीं बनाया है. इस बार यह सीट माला रॉय को दी गई है.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनने से पहले ममता बनर्जी इसी सीट से संसद तक का सफर तय करती रही हैं. लेकिन मुख्यमंत्री बनने के बाद जब उन्होंने भवानीपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था तो उसके बाद उन्होंने सुब्रत बक्शी को उस सीट से चुनाव लड़वाया था. इसके अलावा ममता बनर्जी ने सिने जगत से जुड़ी दो अभिनेत्रियों को भी टिकट दी है. इनमें मिमी चक्रवर्ती जादवपुर तो नुसरत जहां बशीरहाट से किस्मत आजमाएंगी.

पश्चिम बंगाल में इस आम चुनाव का मुख्य मुकाबला टीएमसी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच माना जा रहा है. इन दोनों दलों के अलावा वहां मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) और कांग्रेस भी चुनावी मैदान में अपनी ताल ठोंकेंगे. फिलहाल टीएमसी को छोड़कर यहां किसी अन्य दल ने अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित नहीं किए हैं. इधर, मंगलवार को पार्टी की तरफ से प्रत्याशियों के नामों की घोषणा के साथ ही उसके लिए एक निराशाजनक खबर भी आई. टीएमसी के नेता व सांसद अनुपम हाजरा अपना इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए हैं.