भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बागी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा है कि 2019 का आम चुनाव वे किस पार्टी से लड़ेंगे इसे लेकर अटकलें न लगाई जाएं. द हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक उनका यह भी कहना है, ‘मैं इस बारे में 22 मार्च को घोषणा करूंगा. मैं अपने भाई-बहनों और शुभचिंतकों के बीच रहना चाहता हूं इसलिए मैंने यह भी तय किया है कि पार्टी कोई भी हो लेकिन चुनाव पटना साहिब संसदीय सीट से ही लड़ूंगा.’

बिहार की पटना साहिब संसदीय सीट से शत्रुघ्न सिन्हा दो बार सांसद रह चुके हैं. साल 2014 के आम चुनाव में उन्होंने भाजपा की टिकट पर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के प्रत्याशी गोपाल प्रसाद सिन्हा को हराया था. इससे पहले 2009 में हुए आम चुनाव के दौरान उन्होंने भाजपा की ही टिकट पर टेलीविजन कलाकार और कांग्रेस के उम्मीदवार शेखर सुमन को करारी शिकस्त दी थी.

इधर, बीते कई महीनों से शत्रुघ्न सिन्हा ने नरेंद्र मोदी और उनकी अगुवाई वाली सरकार की नीतियों के खिलाफ आक्रामक रुख अपना रखा है. इसी सोमवार को एक ट्वीट के जरिये प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए उन्होंने नरेंद्र मोदी की ‘कथनी और करनी’ में अंतर भी बताया था. इस सबके मद्देनजर यह लगभग तय है कि वे भाजपा की टिकट पर चुनाव नहीं लड़ने वाले. इस बीच शत्रुघ्न सिन्हा और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बीच कई मुलाकातें हुई हैं.