कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार शाम मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात की. प्रियंका गांधी के साथ उत्तर प्रदेश के कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभार ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे. बुधवार शाम पांच बजे अचानक आनंद अस्पताल पहुंची प्रियंका गांधी ने भीम आर्मी मुखिया चंद्रशेखर से मुलाकात के बाद कहा, ‘मैं चंद्रशेखर को जानती हूं. इनका जोश पसंद आया, इसलिए मिलने आई हूं, इसे राजनीति से न जोड़े.’

हालांकि, प्रियंका की भीम आर्मी प्रमुख से मुलाकात को दलित वोटरों को रिझाने के तौर पर देखा जा रहा है. चंद्रशेखर बीते कुछ सालों में दलित राजनीति के नए चेहरे के तौर पर उभरे हैं और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खासे लोकप्रिय रहे हैं. बसपा प्रमुख मायावती लगातार चंद्रशेखर और भीम आर्मी के खिलाफ बयान देती रही हैं और उन्हें भाजपा का एजेंट बताती रही हैं. मायावती के पूरे देश में कहीं भी कांग्रेस गठबंधन से इंकार करने के बाद इसे कांग्रेस की नये सिरे से आक्रामक रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है.

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर को पुलिस ने मंगलवार को तब आचार संहिता उल्लंघन के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था, जब वे सहारनपुर से दिल्ली के लिए हुंकार यात्रा पर निकले रहे थे. हिरासत में लेने के बाद चंद्रशेखर की तबियत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें मेरठ के आनंद अस्पताल में भर्ती कराया गया थां.