ऑस्ट्रेलिया ने उस्मान ख्वाजा के शतक और लेग स्पिनर एडम जंपा की शानदार गेंदबाजी के चलते पांचवें और निर्णायक वनडे मैच को 35 रन से जीत लिया. बुधवार को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में खेले गए इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर भारत के सामने 273 रन का लक्ष्य रखा. इसके जवाब में पूरी भारतीय टीम 237 रन पर ही सिमट गई.

भारत की ओर से रोहित शर्मा ने 89 गेंदों पर सर्वाधिक 56 रन बनाए. अंत में भुवनेश्वर कुमार ने 46 और केदार जाधव ने 44 बनाकर सातवें विकेट के लिये 91 रन जोड़कर उम्मीद जगायी, लेकिन जीत की दहलीज तक ले जाने में सफल नहीं हो सके. ऑस्ट्रेलिया की ओर से एडम जंपा ने 46 रन देकर तीन जबकि तेज गेंदबाज पैट कमिन्स, जॉय रिचर्डसन और मार्कस स्टोइनिस ने दो-दो विकेट झटके.

इससे पहले उस्मान ख्वाजा ने 106 गेंदों पर दस चौकों और दो छक्कों की मदद से 100 रन बनाये. उन्होंने कप्तान एरोन फिंच (43 गेंदों पर 27 रन) के साथ पहले विकेट के लिये 76 और पीटर हैंड्सकांब (60 गेंदों पर 52 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिये 99 रन की साझेदारियां की. गेंदबाजी के दौरान भारत ने अच्छी वापसी की, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के पुछल्ले बल्लेबाजों ने अंतिम चार ओवर में 42 रन जुटाये जिससे स्कोर नौ विकेट पर 272 रन पहुंच गया.

ऑस्ट्रेलिया ने भारत में आखिरी बार 2009-10 में वन-डे सीरीज जीती थी. इस तरह करीब दस साल बाद कंगारुओं ने भारत को उसी के घर पर वन-डे सीरीज में हराया है. भारत के लिए यह विश्व कप से पहले आखिरी वन-डे मुकाबला था. ऐसे में पांच मैच की सीरीज में 2-0 से बढ़त के बावजूद लगातार तीन मैचों में हुई हार से टीम मैनेजमेंट की चिंता बढ़ना जायज है.